कुरुद। प्रकाश पर्व दीपावली, गोवर्धन पूजा और गौरा-गौरी विसर्जन का उत्सव कुरुद नगर और ग्रामीण अंचलों में परंपरागत तरीके से हर्षोल्लास एवं धूमधाम से मनाया गया। लोगों ने अपने स्नेहीजनों को मिठाई खिलाकर बधाई दी।

कुरुद के इंदिरा नगर, संजय नगर, सरोजिनी चौक, दानीपारा, पचरीपारा, सिरसा चौक, बजरंग चौक, गोड़ पारा सहित गांवों गांव में गौरा-गौरी की स्थापना के साथ विसर्जन किया गया।

चार दिनों तक विवाह की विभिन्न रस्मों को विधि-विधान के साथ पूरा किया गया। चतुर्दशी पर चुलमाटी लेकर गौरा-गौरी विवाह की शुरुआत धनतेरस के दिन से होती है। चौदस के दिन सुबह चुलमाटी समेत अन्य रस्म होती है। दीपावली के दिन गौरा व गौरी की प्रतिमाओं के साथ विवाह की रस्में पूरी की जाती हैं। गोवर्धन पूजा के दिन गौरा व गौरी की मूर्ति का तालाबों व नदियों में विसर्जन किया जाता है।

मूर्ति की स्थापना करके शिव-पार्वती का विवाह कराने की परंपरा निभाई गईं। रातभर गीत गाकर करसा परघउनी करके गौरा चौरा में स्थापित किया गया। गोवर्धन पूजा के बाद बाजे के साथ गौरा-गौरी को तालाब में विसर्जित किया गया। श्रद्धालुओं ने साकड़ के प्रहार सहकर अपनी आस्था प्रकट की।

वहीं गोवर्धन पूजा पर किसानों ने गायों की पूजा कर खिचड़ी खिलाई। यादव बंधुओं ने गोमाता को सोहई बांधी। गांव के साहड़ा देव में गोवर्धन पूजाकर गांव की सुख शांति की कामना के साथ गोबर का तिलक लगाया। साथ ही एक-दूसरे को दीपावली पर्व की बधाई भी दी।

कुरुद नगर के संजय नगर में गौरा-गौरी विसर्जन के दौरान नगर पंचायत अध्यक्ष तपन चंद्राकर, ब्लाक अध्यक्ष आशीष शर्मा, जिला महामंत्री प्रमोद साहू, पार्षद देवव्रत साहू गौरा-गौरी की पूजा-अर्चना कर सुख समृद्धि की कामना की। इस दौरान बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local