धमतरी। जिले के वनांचल नगरी के ग्रामीण क्षेत्रों में छत्तीसगढ़ राज्य अक्षय ऊर्जा विकास अभिकरण (क्रेडा) सोलर ड्यूल पंप के जरिये साफ पानी मुहैय्या करा रहा है। इनमें आमाबहार, लिलांज, फरसगांव, मुंहकोट, गाताबाहरा, आमझर, खल्लारी, एकावरी, चमेदा, करही, मादागिरी, संदबहरा, रिसगांव, जोरातराई इत्यादि गांव शामिल हैं।

इन सोलर ड्यूल पंपों के जरिये ग्रामीणों को चौबीसों घंटे पीने का साफ पानी मिल रहा है। सोलर ड्यूल पंप दिन में ऊर्जा का उपयोग करने और एक ओवरहेड टैंक में पानी को इकट्ठा करता है, जो पूरे दिन चलता है।

अच्छी बात यह है कि सूरज की रोशनी उपलब्ध नहीं होने पर यह संयंत्र एक सामान्य हैंड पंप के रूप में भी काम करता है। गौरतलब है कि धमतरी जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में 424 सोलर ड्यूल पंप संयंत्रों की स्थापना क्रेडा द्वारा की गई है। ऐसे कई पिछड़े और अंदरुनी गांव हैं, जहां बिजली खंबे नहीं पहुंच पाए।

इस वजह से लोगों को पीने के पानी की दिक्कत होती थी। अब सौर ऊर्जा आधारित टंकी लगने से गांव की मूलभूत पीने के पानी की समस्या का हल निकला, वहीं दुर्गम इलाके में सूरज की रोशन से लोगों की प्यास बुझाई जा रही है। सहायक अभियंता, क्रेडा कमल पुरैना ने बताया कि हर सोलर ड्यूल पंप संयंत्र में पांच साल की वारंटी रहती है।

वारंटी खत्म होने के बाद भी कई सालों तक यह पंप सामान्य तौर पर चलता रहता है। क्रेडा के मैदानी अमले द्वारा लगातार इन संयंत्रों पर निगाह रखी जाती है और रखरखाव का कार्य किया जाता है, ताकि ये संयंत्र हमेशा बिना रूके चलते रहें।

लोगों को मिल रही राहत

वनांचल क्षेत्रों में सोलर ड्यूल पंप लगाए जाने से वनांचल में रह रहे लोगों को काफी राहत मिली है। उन्हें किसी भी समय पानी मिल जा रहा है। इससे निस्तारी व पेयजल की समस्या दूर हुई है। इसके साथ ही साथ कई ग्रामीण सोलर ड्यूल पंप की सहायता से आसपास में लगे छोटी बाड़ियों की सिंचाई भी इसकी सहायता से कर पा रहे हैं, इससे काफी राहत मिली है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local