धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे और शासन-प्रशासन ने सख्त नियमों के कारण इस बार दशहरा पर्व फीका रहा। जिला मुख्यालय धमतरी के रावण दहन कार्यक्रम में भीड़ काफी कम रही।

25 अक्टूबर को धमतरी शहर में प्रचलित परंपरा के अनुसार नगर निगम द्वारा गौशाला मैदान में रावण का पुतला जलाया गया। यहां सादगी के साथ कार्यक्रम हुआ। राम लीला मंचन की औपचारिकता पूरी की गई। रावण दहन देखने बहुत कम लोग पहुंचे थे। पूर्व के वर्षों में लोगों की भीड़ से खचाखच भरा रहने वाला मैदान खाली- खाली नजर आया। जनप्रतिनिधि भी कम संख्या में कार्यक्रम में शामिल हुए। रावण का पुतला भी अन्य वर्षों की तुलना में छोटा बनाया गया था। शहर और ग्रामीण क्षेत्र में कई जगह इस बार रावण का पुतला दहन नहीं किया। कई जगह दशहरा का पर्व 26 अक्टूबर को मनाया जाएगा।

--------------

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस