धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। झोपड़ी के भीतर गहरी नींद में सोई कमार महिला पर हाथियों ने हमला कर मार डाला। मृत महिला की शरीर कई टुकड़ों में मिला। मामले की जांच में पुलिस व वन विभाग जुट गई है। मगरलोड़ ब्लाक की यह दूसरी घटना है।

चंदा हाथियों के दल में 22 से 23 हाथी है, जो लंबे समय से धमतरी जिले के जंगलों में विचरण कर रहे हैं। इन दिनों हाथियों का दल दक्षिण सिंगपुर रेंज के ग्राम पारधी क्षेत्र के जंगलों में घूम रहे हैं। 13 मई की रात हाथियों का यह दल ग्राम पारधी के कमार डेरा में सोई हुई आदिवासी कमार महिला को कुचल कर मार डाला। घटना स्थल पर मृत महिला की शव कई टुकड़ों में मिली हैं।

14 मई शनिवार की सुबह घटना की सूचना मिलते ही वन विभाग व मगरलोड़ पुलिस घटनास्थल में पहुंचे।इस मामले में उत्तर सिंगपुर रेंजर पीआर साहू ने बताया कि चंदा हाथियों का दल सिंगपुर इलाके में कक्ष क्रमांक 84 अतिक्रमण क्षेत्र में पहुंचे। ग्राम पारधी की ओर जाने की सूचना पर गजराज वाहन से ग्रामीणों को सुरक्षित दूसरे जगह पहुंचाया गया, लेकिन कमारडेरा में मृत कमार महिला गजराज वाहन में जाने से मना कर दिया था। फिर लगभग दो बजे वाहन से महिला को लाने के लिए गए तब तक चंदा हाथियों का दल डेरा पहुंच गया था।

दंतैल चंदा हाथियों के दल ने झोपड़ी को तहस नहस कर दिया। झोपड़ी के अंदर सोई हुई आदिवासी कमार महिला सुखमा बाई कमार 30 वर्ष पति लखनू राम को कुचल कर मार डाला था।मगरलोड़ पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराई और आगे की जांच में जुट गई है।

मगरलोड ब्लाक की दूसरी घटना

उल्लेखनीय है कि मगरलोड ब्लाक की यह दूसरी घटना है। इससे पहले दंतैल हाथियों ने नवंबर 2021 में ग्राम भालूचुवा में कमार महिला को कुचल कर मार डाला था। बताया जा रहा है कि महुआ की सुगंध में हाथियों का दल यहां पहुंचे थे और घटना को अंजाम दिया। कमार डेरा के कई झोपड़ियों को हाथियों ने तोड़फोड़ कर नष्ट कर दिया है।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local