धमतरी। संगठन को मजबूत करने और जन समस्याओं पर आंदोलन का विस्तार करने के आव्हान के साथ मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी का सातवां धमतरी जिला सम्मेलन संपन्ना हुआ। सम्मेलन में आगामी तीन वर्षों के लिए छह सदस्यीय जिला समिति का चुनाव किया गया, जिसके सचिव समीर कुरैशी निर्वाचित किए गए।

सर्वसम्मति से मनीराम देवांगन, रेमन यादव, सरला शर्मा, सुभीत निषाद और महेश शांडिल्य जिला समिति सदस्य निर्वाचित किए गए।

माकपा राज्य सचिव संजय पराते ने सम्मेलन के शुभारंभ अवसर पर कहा कि मोदी सरकार की कार्पोरेटपरस्त नीतियों से लोग परेशान हैं। केंद्र सरकार के खिलाफ चल रहे देशव्यापी संघर्षों कओर सम्मेलन का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि यदि देश बचाना है, तो इसकी संप्रभुता और संविधान को भी बचाना होगा। जिस पर यह सरकार बड़े पैमाने पर हमले कर रही है।

किसान विरोधी कानूनों और मजदूर विरोधी श्रम संहिता के खिलाफ पूरे देश में विकसित हो रहे साझा आंदोलन को देश की अर्थव्यवस्था को बचाने का आंदोलन बताते हुए उन्होंने कहा कि यह आंदोलन मजदूर-किसानों की क्रयशक्ति को बढ़ाने और इसके जरिए घरेलू बाजार में मांग बढ़ाने का आंदोलन है, ताकि हमारी अर्थव्यवस्था मंदी से बाहर निकल सके।

उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी सरकार सार्वजनिक संपत्तियों को कौड़ियों के मोल लुटाकर तथा कृषि क्षेत्र में कार्पोरेट घरानों को घुसाकर देश को कार्पोरेट गुलामी की ओर धकेलना चाहती है, जिसके खिलाफ पूरे देश की जनता संघर्ष कर रही है। माकपा नेता ने इस राजनैतिक चुनौती का मुकाबला करने के लिए संगठन को मजबूत बनाने तथा जन संघर्षों को फैलाने का आव्हान किया।

पार्टी जिला सचिव समीर कुरैशी ने धमतरी जिले की राजनैतिक परिस्थितियों में हस्तक्षेप योग्य जन समस्याओं को चिंहित करते हुए तथा विगत तीन वर्षों में पार्टी द्वारा चलाए गए संघर्षों के अनुभवों की रिपोर्ट और आय-व्यय का लेखा-जोखा पेश किया। बहस के बाद यह रिपोर्ट सर्वसम्मति से पारित की गई।

जिला सम्मेलन ने कोरबा में होने जा रहे सातवें राज्य सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए मनीराम देवांगन, सरला शर्मा, रेमन यादव और महेश शांडिल्य के नाम तय किए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local