धमतरी। लंबे समय बाद एक बार फिर से रेलवे जमीन पर अतिक्रमण करने वाले सैकड़ों परिवारों को रेलवे प्रशासन ने जमीन छोड़ने नोटिस थमाया है। सात दिनों के भीतर कब्जा छोड़ने चेतावनी दी है, नहीं तो कार्रवाई करने की बात कहीं है, इससे इन परिवारों में हड़कंप मच गया है।

धमतरी से केंद्री तक करीब 50 किलोमीटर बड़ी रेल लाइन निर्माण की स्वीकृति मिल गई है। वहीं रेललाइन के साथ माल गोदाम भी बनाया जाएगा, इसकी भी स्वीकृति हो गई है। स्वीकृति के बाद रेलवे प्रशासन के उच्चाधिकारी लगातार रेलवे क्षेत्र में निर्माण के लिए निरीक्षण कर रहे हैं।

वहीं पिछले समय अतिक्रमणकारियों पर बड़ी कार्रवाई की थी, इससे अधिकांश जगह खाली हो गई है, लेकिन अभी भी कई जगह पर अतिक्रमण है, इसे हटाने रेलवे की कार्रवाई पुनः शुरू हो गई। 22 जनवरी 2022 को दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर के अधिकारी-कर्मचारी धमतरी पहुंचे। यहां रेलवे से लगे स्टेशनपारा समेत आसपास रहने वाले सैकड़ों लोगों को रेलवे के अतिक्रमित जगह छोड़ने नोटिस थमाया है।

नोटिस में रेलवे प्रशासन ने उल्लेख किया है कि धमतरी बड़ी रेललाईन का कार्य प्रगति पर है, ऐसे में अतिक्रमण हटाना जरूरी है। अवैध कब्जा को सात दिनों के भीतर हटाना अनिवार्य बताया गया है। अतिक्रमणकारी अतिक्रमण स्वयं हटा, नहीं हटाने पर रेलवे प्रशासन द्वारा अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी, इसके लिए वे स्वयं जिम्मेदार होंगे। वहीं रेलवे प्रशासन किसी भी प्रकार के क्षति या नुकसान के लिए जिम्मेदार नहीं होंगे।

वहीं कार्रवाई के दौरान होने वाली खर्च को भी अतिक्रमणकारियों से वसूली करने की चेतावनी दी है, रेलवे के इस नोटिस से धमतरी शहर के स्टेशनपारा व आसपास के अतिक्रमणकारियों में हड़कंप मच गया है।

500 करोड़ की राशि स्वीकृत

उल्लेखनीय है कि धमतरी से केंद्री तक बड़ी रेल लाईन के लिए 500 करोड़ से अधिक की राशि स्वीकृत है। वहीं धमतरी रेलवे स्टेशन के पास करीब 70 करोड़ रुपये से टर्मिनल माल गोदाम बनाया जाएगा, इसकी भी स्वीकृति हो गई है। स्वीकृति के बाद अब निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होने की संभावना है, यही वजह है कि रेलवे प्रशासन द्वारा लगातार अतिक्रमण हटाने के लिए अतिक्रमणकारियों को नोटिस थमाया जा रहा है।

वहीं रेलवे प्रशासन द्वारा जिन किसानों के जमीन को अधिग्रहण किया गया है, उनके लिए जिला प्रशासन की ओर से मुआवजा के लिए अवार्ड पारित होने की जानकारी मिली है, जल्द ही इन परिवारों को मुआवजा मिलने की संभावना है। धमतरी जिले में करीब 497 किसानों को मुआवजा मिल सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local