धमतरी। नौ दिनों तक चलने वाला नवरात्र महोत्सव के बाद शहर में मूर्ति विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया है। 14 अक्टूबर को देवी पंडालों में सुबह भंडारा का आयोजन किया गया। इसके बाद जोत जंवारा विसर्जन हुआ। बाजे-गाजे के साथ शहर में विभिन्ना दुर्गा उत्सव समिति के द्वारा भव्य विसर्जन यात्रा निकाली गई। यह विसर्जन यात्रा पांच किलोमीटर दूर रुद्रेश्वर घाट पहुंचकर महानदी में प्रतिमा विसर्जन संपन्ना हुई। इस मौके पर महानदी घाट में बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रही। साथ ही नगर निगम की टीम और नगर सेना बल के गोताखोर भी नदी में तैनात रहे। दोपहर बाद मूर्ति विसर्जन का सिलसिला शुरू हुआ जो देर शाम तक चलता रहा। आज भी बड़े पैमाने पर मूर्तियों का विसर्जन होगा।

विसर्जन स्थल को व्यवस्थित करने में लगे रहे कर्मचारी

नवरात्र की समाप्ति के बाद अब शहर-अंचल में स्थापित देवी मूर्तियां के विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया है। विसर्जन को लेकर जिला प्रशासन द्वारा व्यापक तैयारी की गई। महानदी रुद्रेश्वर घाट के पास गुरुवार को जिला प्रशासन के निर्देश पर विद्युत व्यवस्था दुरुस्त करने में नगर निगम, विद्युत विभाग के कर्मचारी डटे रहे। कर्मचारियों ने घाट के अलग-अलग स्थानों पर बल्ब लगाए। इसी तरह जनरेटर की व्यवस्था की गई ताकि बिजली गुल होने की स्थिति में किसी तरह विसर्जन में दिक्कत न आए।

सुरक्षा को लेकर पुलिस कर्मचारियों की लगी ड्यूटी

विसर्जन स्थल पर किसी तरह की परेशानी न हो इसे लेकर जिला प्रशासन द्वारा तैयारी की गई है। सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पुलिस की टीम सुबह से ही विसर्जन स्थल के पास जुट गई। अलग-अलग स्थानों पर पुलिस ने मोर्चा संभाल रखा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local