धमतरी। स्कूल खुलने के 11वें दिन में आरटीओ व ट्रैफिक पुलिस ने स्कूली बसों की फिटनेस जांच की। बसों में विद्यार्थियों के लिए पर्याप्त सुविधा नहीं मिलने पर नाराजगी जताते हुए सुविधा बढ़ाने के लिए चेतावनी दी है।

वहीं चालकों के आंखों की जांच स्वास्थ्य विभाग द्वारा कराई गई, जिसमें तीन चालकों के दृष्टिदोष मिले।

स्कूल खुलने के एक दिन पहले नईदुनिया ने 15 जून के अंक में कल से स्कूलों में लौटेगी रौनक, विद्यालयों में नहीं पहुंचे गणवेश शीर्षक से खबर प्रकाशित किया था, इस खबर में स्कूली वाहनों की जांच नहीं होने का उल्लेख किया गया था और जिला आरटीओ अधिकारी अब्दुल मुजाहिद से चर्चा कर स्कूली वाहनों की जांच नहीं होने संकेत दिया था, इसके बाद उन्होंने शीघ्र ही बसों की जांच करने की बात कहीं थी।

नईदुनिया की खबर को प्रमुखता से लेते हुए 26 जून को शहर के बालक शाला मैदान में जिला परिवहन विभाग द्वारा विभिन्ना निजी स्कूलों के 54 निजी स्कूली बसों का फिटनेस जांच किया। जिला परिवहन अधिकारी मोहम्मद मुजाहिद ने सभी स्कूल संचालकों को चालक, परिचालक समेत सभी दस्तावेज और बसों को लेकर एकलव्य खेल मैदान में बुलाया, जहां प्रत्येक वाहनों का बिंदुवार चेकिंग किया गया।

सभी वाहनों में आगे पीछे पीला रंग, शैक्षणिक संस्था का नाम ,बस के दोनों ओर में नौ इंच का पट्टी खिड़की में समांतर जाली की व्यवस्था, प्राथमिक उपचार पेटी एवं अग्निशमन यंत्र सिग्नल लाईट, सीट के नीचे बस्ता रखने का पर्याप्त स्थान, प्रेशर हार्न, जीपीएस लोकशन ट्रेकिंग सिस्टम होना अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा फिटनेस, बीमा, प्रदूषण प्रमाण पत्र, लायसेंस वैधता की जांच की गई। कई बसों में विद्यार्थियों के लिए पर्याप्त सुविधा उपलब्ध नहीं होने पर बस चालकों को सुविधा बढ़ाने चेतावनी दी है।

वाहन चालकों के नेत्र परीक्षण किया गया

स्कूल वाहन चालकों के नेत्र परीक्षण परिवहन विभाग के सहयोग से जिला चिकित्सालय धमतरी के नेत्र विभाग के टीम ने किया। 45 लोगों की जांच की गई, जिसमें से तीन में दृष्टि दोष पाया गया।

जिन्हें चश्मा का नंबर देकर बनाने की सलाह दी गई। नेत्र जांच में नेत्र सहायक अधिकारी गुरूशरण साहू, डीके शुक्ला, संतोष साहू, बीके साहू एवं तोमेश्वर भंडारी कार्यालय सहायक ने अपनी सेवा दी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close