धमतरी। भारतीय किसान संघ जिला धमतरी के पदाधिकारी व सदस्यों ने बेमौसम बारिश व खराब मौसम के कारण किसानों के दलहन-तिलहन फसल खराब होने पर मुआवजा देने व रबी धान फसल के लिए सिंचाई पानी छोड़ने की मांग की है।

पदाधिकारियों ने अपनी मांगों को लेकर कलेक्टर को ज्ञापन भी सौंपा है।

भारतीय किसान संघ धमतरी खंड महिला अध्यक्ष श्यामादेवी साहू, सचिव दिलीप पटेल समेत जिला पदाधिकारियों व सदस्यों ने कलेक्टर पीएस एल्मा को ज्ञापन सौंपे।

संघ के जिला पदाधिकारी व धमतरी खंड पदाधिकारियों ने सौंपे ज्ञापन में मांग की है कि पिछले कुछ दिनों से अंचल में बेमौसम बारिश व खराब मौसम का दौर जारी है, इससे किसानों के दलहन-तिलहन फसल बूरी तरह से खराब हो चुका है। जिले के इन प्रभावित किसानों के खराब फसल का जिला प्रशासन सर्वे करें और नुकसान प्रभावित किसानों को मुआवजा प्रदान करें, ताकि नुकसान का भरपाई हो सके।

क्योंकि किसानों के पास आय का कोई दूसरा अन्य माध्यम नहीं है, ऐसे में वे कर्ज में डूब जाएंगे। प्रभावित किसानों को मुआवजा दें, ताकि नुकसान की भरपाई हो सके। वहीं राज्य सरकार की गलत धान खरीदी नीति के कारण धान की फसल को व किसानों को आर्थिक बोझ उठाना पड़ रहा है। खराब मौसम व बेमौसम बारिश के चलते पिछले कई दिनों से अंचल में धान की खरीदी बंद है। अब तक धान नहीं बेच पाने वाले किसानों को चिंता सता रही है।

गंगरेल बांध से सिंचाई पानी छोड़ने की मांग

किसानों को मौसम खुलने का इंतजार है। संघ की मांग है कि शासन सोसाइटी में धान खरीदी की तिथि बढ़ाए, ताकि कोई भी किसान समर्थन मूल्य पर धान बेचने से वंचित न रहे। पदाधिकारियों की मांग है कि दलहन-तिलहन फसल खराब होने के बाद अब कई किसान अपने खेतों पर धान फसल लगाना चाहते हैं, इसलिए जिला प्रशासन शीघ्र ही गंगरेल बांध से किसानों के हित को देखते हुए सिंचाई पानी छोड़े, ताकि धान फसल लेने पर उन्हें कुछ राहत मिल सके।

भारतीय किसान संघ जिला धमतरी ने यह प्रस्ताव पारित किया है, इसे जिला प्रशासन के माध्यम से राज्य सरकार तक पहुंचाने की मांग की है, ताकि राज्य सरकार उनकी मांगों को किसानहित में गंभीरता से लें।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local