धमतरी। ग्राम देमार में तीन दिवसीय रामधुनी सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस आयोजन में धमतरी के अलावा दूरदराज के क्षेत्रों से भी विभिन्न रामधुनी मानस मंडली श्रीरामचरितमानस का बखान करने पहुंची।

रामधनी स्पर्धा की संगीमय प्रस्तुति को देखने के लिए ग्राम देमार के अलावा आसपास के गांव से काफी संख्या में लोग पहुंचे। ग्राम पंचायत देमार के मां महामाया मंदिर प्रांगण में आयोजित तीन दिवसीय रामधनी सम्मेलन में नरहरपुर, कांकेर, बेल्हारी, राजिम, गरियाबंद, बालोद, गुरुर, कुरूद, देवपुर, गरियाबंद से 40 से भी अधिक रामधुनी मानस मंडली पहुंची।

सभी मंडलियों ने श्री रामचरितमानस के अलावा विभिन्न पौराणिक कथाओं का नाटक मंचन किया गया। श्री कृष्ण नवयुवक समिति जागरूक किसान क्लब के तत्वावधान में आयोजित इस आयोजन को लेकर लोगों में खासा उत्साह देखने को मिला।

कार्यक्रम में श्री कृष्ण नवयुवक समिति के अध्यक्ष संतोष कुमार सिन्हा, उपाध्यक्ष कृषि साख सहकारी समिति कुमार उपाध्यक्ष ओम प्रकाश साहू, श्री कृष्ण शिशु मंदिर कुमार के उप कोषाध्यक्ष विजय कुंभकार, उप कोषाध्यक्ष बिहारी कुंभकार, संस्थापक एवं संरक्षक दिनेश कुमार साहू पूर्व सरपंच व जागरूक किसान क्लब अध्यक्ष, पूर्व सरपंच ईश्वरराम रामटेके, सलाहकार अध्यक्ष नारायण पटेल, कोषाध्यक्ष गौतम साहू, सचिव अनिरुद्ध कुंभकार सहित काफी संख्या में समिति के सदस्य व ग्रामीण उपस्थित थे।

प्रथम दिवस शुभारंभ के मुख्य अतिथि ग्राम पंचायत सरपंच शीतल मीनपाल थी। अध्यक्षता भागवत मीनपाल ने की। विशेष अतिथि संजय साहू उपसरपंच, कमलेश सोनकर, गुरु गोपाल गोस्वामी, दीपक सोनकर, गोपालपुरी गोस्वामी गोठान समिति अध्यक्ष, मणिकांत जोशी थे।

मुख्य अतिथि महासमुंद लोकसभा सांसद चुन्नीलाल साहू, अध्यक्षता विधायक रंजना डिपेंद्र साहू ने की। विशेष अतिथि चंद्रकला बंजारे जनपद सदस्य ने की। वामन सिन्हा, सुरेंद्र पटेल, नारायण साहू, मिलन दिवाकर, भुवन दिवाकर उपस्थित थे।

-ग्राम देमार में तीन दिवसीय रामधुनी सम्मेलन का हुआ आयोजन

---

समाज की उन्नति का मुख्य आधार है संगठन की मजबूती : कविता

धमतरी। मां तुलजा भवानी महिला मंडल दुर्ग-भिलाई के तत्वावधान में सावन सखी कार्यक्रम का आयोजन तुलजा भवानी मंदिर परिसर में किया गया। कार्यक्रम की अतिथि कविता योगेश बाबर अध्यक्ष छत्तीसगढ़ मराठा समाज महिला प्रकोष्ठ थीं।

कार्यक्रम का शुभारंभ माां तुलजा भवानी की पूजा-अर्चना एवं माल्यार्पण कर किया गया। तत्पश्चात समाज के महिला प्रकोष्ठ के सदस्य सावन महोत्सव के अवसर पर अपने पारंपरिक वेशभूषा में 16 श्रृंगार कर उपस्थित हुए। कार्यक्रम में महिलाओं के बीच विभिन्न प्रकार के खेलकूद की स्पर्धाएं हुईं। सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए।

कविता योगेश बाबर ने समाज की महिला सदस्यों को संबोधित करते हुए उन्हें इस गरिमामय कार्यक्रम के लिए बधाई दी एवं कहा कि आज महिलाएं हर क्षेत्र में आगे बढ़कर पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही हैं। आज हमें आवश्यकता है कि हम संगठित रूप से कोई भी कार्य करें तो उस समाज को आगे बढ़ने से कोई भी नहीं रोक सकता।

कार्यक्रम में धमतरी से वर्षा रणसिंह, कल्पना रणसिंह, निधि रणसिंह, स्वाति रकटाटे उपस्थित थीं। कार्यक्रम में दुर्ग-भिलाई की अध्यक्ष जया ताठे, उपाध्यक्ष शिवानी नलोडे, सचिव कंचन पेडनेकर, कोषाध्यक्ष नम्रता मराठे, सांस्कृतिक सचिव कल्पना नलोडे, कार्यकारिणी सदस्य अंजली जगताप, अपर्णा मड़के, कविता म्हस्के, कीर्ति पवार, ममता हाके, मेधा तराले, मीनाक्षी पवार, रागिनी टोनपे, सुनीता शिवाजी राव भोसले, सुनीता पांथरे, वर्षा जगदले, विभा ढगे उपस्थित थीं।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close