धमतरी। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए अब किसानों के पास सिर्फ 10 दिन का समय शेष है। वहीं 13 हजार किसान धान बेचने के लिए शेष हैं। खरीदी के अंतिम समय में बिचौलिये व कोचिया दूसरी जगहों से लाए धान को खपाने की कोशिश करते हैं, इसे देखते हुए जिले के पांच जगहों पर जांच जारी है।

टीम तैनात होकर चेकपोस्ट के माध्यम से वाहनों की जांच कर रहे हैं, ताकि दूसरे प्रदेश व जिलों का धान यहां खपाया न जा सके।

समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू होने से पहले और अंतिम दौर में धमतरी जिले में ओडिशा व गरियाबंद क्षेत्र से धान के अवैध परिवहन कर खरीदी केंद्रों में खपाने की कोशिश रहता है, इसे देखते हुए अंतरराज्यीय सीमा से लगे जगहों पर जांच तेज हो गई है।

22 जनवरी को वीसी के माध्यम से मुख्य सचिव ने धमतरी समेत प्रदेशभर के सभी कलेक्टरों को निगरानी बढ़ाने, विशेष तौर पर अंतरराज्यीय सीमा से लगे जिलों में सतर्कता बरतते हुए संभावित अवैध परिवहन के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। साथ ही धान खरीदी के अंतिम दस दिनों में जरूरी एहतियात बरतने के लिए कलेक्टरों को कहा है।

इसके बाद से जिले में निगरानी तेज हो गई है। खाद्य निरीक्षक नरेश पीपरे ने बताया कि धान के अवैध परिवहन रोकने के लिए वर्तमान में जिले के पांच चेक पोस्ट पर जांच जारी है। नगरी ब्लाक के चेकपोस्ट बोराई, बनरौद, सांकरा, बांसपानी और सिंगपुर शामिल है, जहां बाहर से आने वाले वाहनों की जांच जारी है। क्योंकि धान खरीदी के अंतिम दौर पर धान के अवैध परिवहन व खपाने की कोशिश रहता है।

---

खराब मौसम ने फिर बढ़ाई चिंता

23 जनवरी को सुबह से शाम तक खराब मौसम का दौर जारी रहा। आंधी-तूफान के साथ बादल वाला मौसम शुरू होने से एक बार फिर जिले के सभी 96 धान खरीदी केंद्रों में रखे धान को समितियों के पदाधिकारी व कर्मचारियों ने कैप् कव्हर, पालीथिन से ढककर सुरक्षित किया। क्योंकि केंद्रों में 13 लाख 5678 क्विंटल धान शेष है, जिस पर बेमौसम बारिश का खतरा मंडराने लगा है।

अब तक केंद्रों से 20 लाख 83736 क्विंटल धान का उठाव किया गया है, जो उठाव का 60 प्रतिशत है। जबकि जिले में 13101 किसान धान बेचने के लिए अभी भी शेष है। जिला नोडल अधिकारी प्रहलाद पुरी गोस्वामी ने बताया कि खराब मौसम को देखते हुए सभी केंद्रों में धान को सुरक्षित रखने कहा गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local