धमतरी। जिले में रविवार 14 जून से मानसून ने आमद दे दी है। पहले दिन झमाझम बारिश करने के बाद मानसून दूसरे दिन खामोश हो गया। जिसके कारण उमस से लोग परेशान रहे। इस साल धमतरी जिले में हफ्ता भर पहले ही मानसून ने दस्तक दे दी। पिछले साल 21 जून को मानसून आया था। रविवार 14 जून की शाम को मानसूनी बादलों ने जिले के सभी भागों में जोरदार बारिश की। अकेले कुरुद तहसील में ही सबसे ज्यादा 27.6 मिमी वर्षा हुई। धमतरी में 19.8 मिमी, मगरलोड में 7.2 मिमी और नगरी में 12.8 मिमी पानी बरसा।

जिले में कुल 67.4 मिमी वर्षा दर्ज की गई। रविवार शाम घंटे भर तक पानी बरसने के कारण धमतरी शहर के अंदर की सड़कें कई जगह जलमग्न हो गई। विमल टाकीज रोड, बनियापारा, आमापारा रोड समेत अनेक जगहों पर घुटनों तक पानी भर गया। मानसून की पहली बारिश में शहर जलमग्न नजर आ रहा था।

तेज बारिश के कारण लोग ठिठक गए थे। नालियों की सफाई ठीक ढंग से न होने और शहर का ड्रेनेज सिस्टम दुरुस्त न होने के कारण नालियों का पानी ओवरफ्लो होकर सड़क पर घुटनों तक भर गया था। लोगों को उम्मीद थी कि मानसून ने धमाकेदार एन्ट्री की है, तो दूसरे दिन भी बादल तेजी से पानी बरसाएंगे। लेकिन पानी नहीं बरसा। बादल छाए रहने और बीच-बीच में धूप खिलने के कारण वातावरण में उमस हावी रही। लोग पसीना पोछते और पंखा, कूलर की हवा खाकर समय काटते नजर आए।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close