रायपुर, धमतरी। धमतरी के मादागिरी के जंगल में फोर्स ने चार हार्डकोर नक्सलियों को ढेर कर दिया। डीजीपी डीएम अवस्थी ने बताया कि आपरेशन मानसून में फोर्स को पहली बड़ी सफलता मिली है। मारे गए नक्सलियों में तीन महिला और एक पुरुष है। चारों नक्सली 12 लाख के इनामी थे।

फोर्स ने मौके से छह बंदूकें समेत बड़ी मात्रा में नक्सल सामग्री बरामद की है। एसटीएफ और डीआरजी के संयुक्त आपरेशन में नगरी-सिहावा क्षेत्र के सक्रिय सीतानदी एरिया कमेटी सदस्य प्रमीला उर्फ राजूल और नगरी एरिया कमेटी सदस्य राजू पर पांच-पांच लाख का इनाम था। वहीं, एलओएस गोबरा दुर्गा उर्फ मंजूला और मुन्न्ी उर्फ रश्मि पर एक-एक लाख का इनाम था।

धमतरी एसपी बालाजी राव सोमावार ने बताया कि शनिवार को अलसुबह मेचका थाना क्षेत्र के मादागिरी के जंगल में नक्सलियों के छिपे होने की खबर के बाद एसटीएफ और डीआरजी की टीम ने अभियान चलाया। पुलिस के पहुंचने पर नक्सलियों के साथ मुठभेड़ हो गई। दोनों तरफ से एक घंटे तक फायरिंग चली। फायरिंग के बाद नक्सली घने जंगलों का फायदा उठाकर भाग गये। पुलिस को सर्चिंग में तीन महिला नक्सली और एक पुरुष नक्सली का शव मिला। जंगल से छह बंदूकें भी बरामद हुईं। कारतूस और अन्य नक्सली सामग्रियां भी पुलिस ने जब्त किया है।

18 दिनों में दूसरी बार मुठभेड़

18 दिन में नक्सलियों के साथ पुलिस नगरी-सिहावा क्षेत्र के जंगल में दूसरी बार मुठभेड़ हुई। 18 जून को कट्टीगांव के जंगल में मुठभेड़ हुई थी। फायरिंग में सीतानदी एरिया की कमांडर सीमा मंडावी मारी गई थी। इसके बाद अब मादागिरी के जंगल में मुठभेड़ हुई है।

पुलिस ने बरामद किए हथियार

मुठभेड़ के बाद एक रायफल, एक देशी कट्टा, पांच 12 बोर की बंदूक और नक्सली साहित्य बरामद किया गया। नक्सल विरोधी आपरेशन में इस वर्ष 34 नक्सली मारे गए, 160 ने आत्मसमर्पण किया और 244 को फोर्स ने पकड़ने में कामयाबी पाई है।