धमतरी। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस में ढाई-ढाई साल का तमाशा चल रहा है। इसका अंत नजर नहीं आ रहा है। प्रदेश में कोई मुख्यमंत्री अस्तित्व में नहीं है।

तीन महीने का समय कांग्रेस सरकार ने आपसी खींचतान में बर्बाद कर दिया है। यह बात धमतरी के जिला भाजपा कार्यालय में 24 सितंबर को पत्रकारों के साथ चर्चा में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कही।

इस अवसर पर विधान सभा के नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, धमतरी के पूर्व विधायक इंदर चोपड़ा सहित अन्य भाजपाई मौजूद थे।

पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने राज्य की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए कांग्रेस में खींचतान को देखकर प्रशासनिक अधिकारी निर्णय लेने से डर रहे हैं। कांग्रेस की राजनीति में आंतरिक उथल पुथल की पराकाष्ठा दिखाई दे रही है।

प्रदेश में बढ़ते नक्सल हिंसा के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार में नक्सलियों पर कार्रवाई करने की इच्छाशक्ति नहीं है। सरकार के मंत्री सिर्फ बात करते हैं।

कोई भी मंत्री बस्तर-दंतेवाड़ा में जाकर अफसरों की मीटिंग लेने को तैयार नहीं है। ढाई साल में नक्सलियों का मनोबल बढ़ गया है। स्थिति यह है कि अब माओवादी जिला मुख्यालय की ओर बढ़ रहे हैं। उल्लेखनीय धमतरी में पुरी के शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती के दर्शन के लिए डा. रमन सिंह और धरमलाल कौशल धमतरी पहुंचे थे।

- पूर्व मुख्यमंत्री डा. रमन सिंह ने कांग्रेस सरकार पर निशाना साधा

-गोवर्धन पीठ पुरी के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती के दर्शन के लिए धमतरी आए थे डा. रमन सिंह धरमलाल कौशिक

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local