धमतरी। निजी स्कूलों में वसूली जानी वाली फीस और आरटीई के नियमों को लेकर छह जनवरी को उन्मुखीकरण कार्यक्रम का आयोजन हुआ। यह कार्यक्रम दो पालियों में हुआ। कार्यक्रम में चारों विकासखंड से समितियां व संस्था प्रमुख शामिल हुए। कार्यक्रम में नगरी, कुरुद और मगरलोड की समितियों के सदस्य व संस्था प्रमुख शामिल हुए। नगर निगम के शहीद वीर नारायण सिंह सामुदायिक भवन में छह जनवरी को आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डीईओ रजनी नेल्सन ने कहा कि पालक व शिक्षक सामंजस्य बनाकर चले।

बिना पूर्वाग्रह के दृष्टिकोण न बनाएं। हर समस्या का निराकरण है। फीस बढ़ने पर संबंधित अधिकारी से बात करें। 2021में फीस को लेकर विवाद न हो। लोकतांत्रिक देश में सभी को अपनी बात रखने का अधिकार है। अधिकार के साथ कर्तव्य भी जरूरी है। पूर्व डीईओ एलपी विश्वास ने कहा कि बच्चों को पढ़ाने वाले शिक्षक ही होते हैं। शासकीय नियमों के तहत स्कूल प्रबंधन फीस बढ़ाते हैं। यदि कभी भी स्कूल की फीस में वृद्धि होती है, तो आक्रोश न जताएं।

प्रबंधन से बात करके बीच का रास्ता निकालें। आज सभी चीजों की कीमतें बढ़ रही हैं, ऐसे में फीस में वृद्धि होना भी सामान्य बात है। शिक्षाविदों का सम्मान करना चाहिए। जिला कोषालय अधिकारी रोहित कुमार साहू ने कहा कि फीस में वृद्धि होने सामान्य बात है। नगरी की शिक्षिका महमूदा खान ने कहा कि साल भर से जो फीस जमा नहीं है, उसे लेकर निजी स्कूल संचालक काफी परेशान हैं।

पालकों को समझौता करते हुए बीच का रास्ता निकालना होगा तभी स्कूलों की सेहत सुधरेगी। पीजी कालेज के प्रोफेसर दुर्गेश प्रसाद तिवारी ने कहा कि छत्तीसगढ़ अशासकीय विद्यालय फीस अधिनियम का अध्ययन करना चाहिए। नीतू शर्मा, धीरज अग्रवाल ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। कार्यक्रम में निजी स्कूल संचालक जिला शिक्षा विभाग के अधिकारी कर्मचारी व पालक काफी संख्या में शामिल हुए।

मालूम हो कि जिले में 216 निजी स्कूल है। कई स्कूलों में मनमाने तरीके से फीस वसूली की शिकायत मिल रही थी। जिसे देखते हुए 11 नवंबर 2020 को निजी विद्यालय ने पालक समिति का गठन किया। इसके अतिरिक्त स्कूलों में नियंत्रण और नियमों का पालन सुनिश्चित करने के लिए कलेक्टर के निर्देश पर जिला स्तर पर नौ सदस्यीय जिला फीस समिति का गठन किया गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस