धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। दंतैल हाथियों की दहशत से डुबान क्षेत्र के स्कूलों में सुरक्षा के मद्देनजर छुट्टी घोषित कर दी गई है। विद्यार्थियों को घरों में रहने कहा गया है, ताकि कोई अनहोनी न हो। पिछले दिनों ग्राम अकलाडोंगरी व कोड़ेगांव के बीच दंतैल हाथियों ने मवेशी ले जा रहे एक मजदूर को रौंदकर मार डाला। इस घटना के बाद से हाथी डुबान क्षेत्र में ही घूम रहे हैं। 10 अक्टूबर को अरौद डुबान क्षेत्र के ग्रामीणों ने ग्राम पहारियाकोन्हा के जंगल में एक दंतैल हाथी को देखा है।

घटना की जानकारी ग्रामीणों ने वन विभाग को दी है। क्षेत्र में हाथियों की आवाजाही को देखते हुए सुरक्षा के चलते स्कूल शिक्षा विभाग ने अरौद संकुल के स्कूल बरबांधा, अरौदडुबान, पटौद, हरफर, अकलाडोंगरी समेत आसपास के स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दिया है, ताकि विद्यार्थी व स्कूल सुरक्षित रहे। वहीं वन विभाग लगातार ग्रामीणों को घरों में रहने अपील कर रहे हैं, ताकि ग्रामीण सुरक्षित रहे।

क्षेत्र में अलर्ट घोषित

वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, 10 अक्टूबर को एक दंतैल हाथी कक्ष क्रमांक आरएफ 182 में घूम रहा है। परिक्षेत्र सहायक मोंगरागहन व दल प्रमुख राजेश वर्मा, दल सहायक हर्ष सिन्हा ने बताया कि शासकीय वाहन गजराज से, कोई भी जंगल न जाए की अपील की जा रही है। रात में बाहर सफर न करें। हाथी डुबान के ग्राम हरफर, बरबांधा, सिलतरा, कलारबाहरा, उरपुटी,केरेगांव रेंज की ओर बढ़ने की आशंका है, ऐसे में क्षेत्र में अलर्ट जारी कर दिया गया है।

इधर, हाथियों के हमले पर रोक नहीं लगने से वन विभाग के खिलाफ नाराज भाजपाइयों ने 10 अक्टूबर को कलेक्ट्रेट के गेट के सामने जमकर नारेबाजी की। कलेक्ट्रेट के गेट के सामने बैठकर आधे घंटे तक नारेबाजी कर प्रशासन को जमकर कोसा। इन्होंने प्रशासन से मांग की कि ग्रामीणों को हाथियों से बचाने के लिए आवश्यक प्रबंध किए जाएं।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close