कुरुद। नगर पंचायत बस्तर से लगभग 200 की संख्या में आदिवासी महिला और पुरुष पैदल चलकर बस्तर से कुरुद पहुंचे। इसके समर्थन में पत्थलगड़ी के नेतृत्व कर्ता विजय कुजूर झारखंड, आनंद टोप्पो पश्चिम बंगाल, मंजेश तिर्की और गोंडवाना स्वदेश के संपादक रमेश ठाकुर कुरुद पहुंचे थे।

बस्तर से रायपुर पैदल मार्च के नेतृत्वकर्ता बस्तर नगर पंचायत के अध्यक्ष डोमाय मोरे ने बताया कि वे बस्तर को नगर पंचायत से ग्राम पंचायत बनाने की मांग कर रहे हैं। साथ ही साथ ही जल जंगल जमीन की सुरक्षा, पांचवी छठवीं अनुसूची, पेशा कानून लागू करने की मांग प्रमुख है।

उन्होंने बताया कि सरकार ने असंवैधानिक तरीके से अनुसूचित क्षेत्र में नगर पंचायत बना दिया है, इससे यहां की आदिवासी जनता सूचित हो रही है। ग्राम पंचायत में रोजगार गारंटी योजना चलती है, लेकिन नगर पंचायत होने के कारण यह योजना लागू नहीं है। इस कारण यहां के लोग पलायन करने को मजबूर हो रहे हैं। अध्यक्ष ओमाय मोरे ने समर्थन देने वालों का आभार व्यक्त किया।

रवि कांत चंद्राकर ने किया आदिवासियों का स्वागत

बस्तर से पैदल कुरुद पहुंचे लगभग 200 आदिवासियों का नगर पंचायत कुरुद के पूर्व अध्यक्ष रविकांत चंद्राकर ने बस स्टैंड परिसर में फूल मालाओं से स्वागत किया। मांगों के समर्थन में उन्होंने अपनी बात रखी। स्वागत करने वालों में प्रमुख रूप से विधायक प्रतिनिधि कृष्णकांत साहू, मूलचंद सिन्हा सांसद प्रतिनिधि, कोमल साहू, राजेश साहू, सत्यम चंद्राकर, पावस चंद्राकर, प्रकाश चंद्राकर, मोनू चंद्राकर, बसंत ध्रुव, संतोष ध्रुव, ठाकुरराम नेताम, तेजराम ध्रुव, सुदामा ध्रुव, खूब लाल कवर काशीराम कंवर, देवनाथ नेताम सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local