धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जिले में संचालित सभी रेत खदानें 15 जून से बंद हो जाएगी। बारिश शुरू होने के बाद रेत की किल्लत शुरू हो जाती है, ऐसे में व्यवस्था बनाए रखने के लिए और जरूरतमंदों को रेत उपलब्ध कराने जिले में रेत डंप सेंटरों को अनुमति दी गई है। खदान बंद होने से पहले ही जिले में 63 रेत डंप सेंटरों को अनुमति दे दी गई है, जो वर्तमान में रेत खदानों से डंप सेंटरों में रेत एकत्र रहे हैं और इस रेत को बारिश के दिनों में बेच सकेंगे।

जून माह के प्रथम सप्ताह से ही मौसम में परिवर्तन शुरू हो जाता है। नौतपा के बीच आंधी-तूफान के साथ बारिश भी होती है, ऐसे में समय में लोगों को रेत निकालने भारी परेशानी होती है, इससे रेत की किल्लत बढ़ जाती है। वहीं 15 जून के बाद जिलेभर में संचालित 20 से अधिक रेत खदानों को बंद कर दिया जाएगा, क्योंकि इस दौरान महानदी में पानी भर जाता है। वहीं पर्यावरण नियमों के अनुसार नदी में जीव-जंतु पर उत्खनन के दौरान खतरा मंडराता रहता है, ऐसे कई कारणों के चलते रेत खदानें अक्टूबर माह तक बंर कर दिया जाएगा।

रेत खदानें बंद होने से पहले डंप सेंटरों में तैयारियां शुरू हो गई है।

जिला खनिज विभाग से मिली जानकारी के अनुसार रेत खदान बंद होने के बाद जरूरतमंदों को रेत उपलब्ध कराने और शासकीय कार्यों को निर्बाध गति से जारी रखने के लिए जिलेभर में 63 डंप सेंटरों को विभाग से अनुमति प्रदान किया गया है, जहां रेत का स्टाक शुरू हो गया है। इन सेंटरों से बारिश में लोगों को रेत बेचा जाएगा। रेत खदानें बंद होने के बाद रेत के दाम आसमान छूने लगता है, ऐसे में लोग रेत खदान बंद होने से पहले ही मकान निर्माण के लिए रेत स्टाक करना शुरू कर रहे हैं।

प्रति हाईवा रेत 4000 रुपयेः वर्तमान में रेत के दाम सामान्य है। धमतरी शहर के लिए रेत प्रति हाईवा 4000 रुपये और प्रति ट्राली 1000 रुपये निर्धारित है, लेकिन बारिश होने के बाद रेत के दाम तेजी से बढ़ने की आशंका है। वहीं प्लास्टर रेत धमतरी में नहीं मिलने के कारण धमतरी शहर समेत आसपास के गांवों में प्रति ट्राली 2000 रुपये से अधिक हो गया है। धमतरी में चारामा क्षेत्र से प्लास्टर रेत खप रहा है। सहायक खनिज अधिकारी सनत कुमार साहू ने बताया कि 15 जून के बाद जिले के सभी रेत खदानें बंद कर दिया जाएगा। लोगों को रेत की किल्लत न हो इसलिए जिले में 63 डंप सेंटरों को अनुमति दी गई है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local