धमतरी। शहर के अंदर और राष्ट्रीय राजमार्ग 30 में मवेशियों की बेधड़क आवाजाही के कारण लोगों की परेशानी बढ़ गई है। शहर के हृदय स्थल मकई चौक से लेकर चारों दिशाओं में मवेशियों को यहां वहां बैठे हुए देखा जा सकता है। इसके चलते लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। त्योहार के चलते शहर में भीड़ लग रही है। ऐसे में खतरा और बढ़ गया है।

शहरवासियों और वाहन चालकों को राहत दिलाने के उद्देश्य नगर निगम ने भले ही 17 सदस्य टीम का गठन कर लिया है लेकिन मवेशी धरपकड़ की कार्रवाई शून्य है। लोगों ने नगर निगम से मांग की है कि जल्द से जल्द बेसहारा मवेशियों को पकड़कर कांजी हाउस में डालें। मवेशियों के कानों में लगे यूनिक नंबर से मवेशियों मालिकों पर सीधे कार्रवाई की जाए।

चाहे राष्ट्रीय राजमार्ग 30 हो या शहर की गलियां या जिला प्रशासन के मुख्य भवन सभी स्थानों पर लोगों को आसानी से मवेशी दिख जाएगा। आवाजाही में बाधक बन रहे मवेशियों को लेकर न तो नगर निगम गंभीर है और ना ही समय-समय पर छोटी-छोटी बातों को लेकर एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप करने वाली प्रमुख राजनीतिक पार्टियों के जागरूक सदस्य इस दिशा में गंभीर हैं।

राष्ट्रीय राजमार्ग 30 में श्यामतराई वनोपज नाका से लेकर सोरिद काली मंदिर क्षेत्र, अंबेडकर चौक, बाम्बे गैरेज क्षेत्र, टिकरापारा, रत्नाबांधा चौक, रत्नाबांधा से लेकर मुजगहन मार्ग, पुराना बस स्टैंड, सिहावा चौक, नया बस स्टैंड, अर्जुनी मार्ग, दानीटोला नहर नाका सहित जिला प्रशासन के कलेक्ट्रेट कार्यालय, तहसील कार्यालय सहित अन्य स्थानों पर मवेशियों को घूमते हुए देखा जा सकता है।

नगर निगम द्वारा कड़ी कार्रवाई न होने करने के कारण कुछेक मवेशी मालिक दूध निकालकर सीधे यड़क छोड़ देते हैं। बेसहारा मवेशी तो घूम ही रहे हैं इसके अलावा कई पशुपालक भी सड़क में छोड़ देते हैं जिससे काफी परेशानी बढ़ जाती है। शहर के जागरूक नागरिक मोहनलाल जैन, पवन गजभिए, जगजीवन राम साहू ने कहा कि नगर निगम को मवेशी धरपकड़ अभियान जल्द से जल्द शुरू करना चाहिए ताकि लोगों को राहत मिल सके। इससे जान का भी खतरा बना रहता है।

जल्द शुरू होगा अभियान

धमतरी शहर में जल्दी मवेशी धरपकड़ अभियान शुरू किया जाएगा। इसके लिए योजना बना ली गई है। धरपकड़क के लिए बकायदा 17 सदस्य टीम का गठन भी किया गया है।

-विजय देवांगन, महापौर, नगर निगम धमतरी।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close