धमतरी। नौतपा के पहले ही बेहाल कर चुकी गर्मी अब भी कोई कसर नहीं छोड़ रही है। पहले ही दिन 41 डिग्री तापमान के बीच गर्म हवाओं से लोग बेहाल रहे। बुधवार को नौतपा की शुरूआत होने के साथ ही नौ दिनी भीषण गर्मी का दौर शुरू हो गया है।

जिले में पहले से ही बदलते मौसम के साथ तेज गर्मी से लोगों का सामना हो रहा है।

नौतपा के पहले वैसे तो तापमान अधिकतम 43 डिग्री तक पहुंच गया था। पिछले सप्ताह इस भीषण गर्मी के बीच लोग शादी-ब्याज, धान फसल कटाई एवं अन्य कार्यों में व्यस्त रहे। हालांकि इस साल भीषण गर्मी के बावजूद लू के मामले कम ही आए। ज्यादातर अस्पतालों में इक्के-दुक्के लोग ही उपचार के लिए भर्ती हुए। नौतपा के आज पहले दिन सुबह से ही सूरज की तपिश में तेज रही।

दोपहर होते तक तापमान 41 डिग्री को पार कर गया और इस बीच गर्म हवाएं चलती रही। इस वजह से लोगों को थोड़ी अधिक गर्मी का सामना करना पड़ा। दोपहर बाद मौसम में थोड़ा परिवर्तन हुआ और बादल छा जाने से तेज उमस का सामना लोगों को करना पड़ा। नौतपा शुरू होने के कारण लोग पहले दिन से ही एहतियात बरतना शुरू कर दिए है।

दोपहर में सड़कें सूनी रही और लोग घरों में दुबके रहे। शाम पांच बजे के बाद ही बाजार में लोगों की आवाजाही शुरू हुई और देर रात बाजार गुलजार रहा। उल्लेखनीय है कि मौसम विभाग ने आठ जून के बीच धमतरी में मानसून पहुंचने की संभावना जताई है, ऐसे में अभी लोगों को पखवाड़ेभर तक भीषण गर्मी का सामना करना पड़ेगा। दिनों गर्मी में और तेजी आएगी। पारा 43 डिग्री तक पहुंच सकता है।

इन सावधानियों के बीच रहे

जिला अस्पताल में पदस्थ एमडी डा संजय वानखेड़े ने बताया कि तेज गर्मी के समय में लोगों को प्रमुख सावधानियों का पालन करना चाहिए। अति आवश्यक हो, तभी घर से बाहर निकलें और ऐसे समय में सिर को कपड़े से बांधकर और पर्याप्त भोजन व पानी पीकर ही निकलें।

वहीं धूप में निकलते समय गमछा, टोपी, चश्मा भी पहनें। ज्यादातर रसीले फलों का सेवन करें। भोजन में फाइवर युक्त सब्जियां शामिल करें। मसालेदार व्यंजनों से दूर रहे। बाहर के उत्पादों के सेवन से बचें। भोजन कम मात्रा में लें और नियमित योग एवं व्यायाम करें।

--

डाही में गर्मी से लोग रहे परेशान

डाही। 25 मई बुधवार से नौतपा शुरू हो गया है। शुरू दिन ही नौतपा ने जमकर कहर बरपाया और डाही क्षेत्र में 40 डिग्री तापमान पहुंच गया है। तेज धूप के चलते गांव की गलियों में सन्नाटा पसरा रहा है। सुबह आठ बजे से गर्म हवा देर शाम तक चलती रही। तापमान का पारा दिन ब दिन बढ़ता जा रहा है।

दोपहर होने के साथ ही तेज धूप का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। इसके बाद शाम ढलने तक इसका असर बना रहता है। गर्म हवा से बचने के लिए लोग उपाय करके ही बाहर निकल रहे हैं। सुबह 11 बजे के बाद अंचल के प्रमुख मार्ग व गलियों में सन्नाटा देखने को मिल रहा है। लोग तेज गर्मी से बचने के लिए शीतल पेय का सहारा ले रहे हैं।

तेज गर्मी का असर यह है कि लोग घर पर दिन - रात कूलर पंखे चलाने मजबूर हो रहे हैं। गर्मी के कारण बुखार व शरीर में दर्द तथा लू लगने से शरीर सुस्त होने की शिकायतें बढ़ रही है। प्रचंड गर्मी की वजह से लोगों का ही नहीं, अपितु जीव जंतुओं का भी हाल बेहाल है। पशु पक्षियों को पानी न मिलने से ज्यादा परेशानी देखी जा सकती है।

---

ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं

नौतपा के नौ दिनों तक मौसम का मिजाज तल्ख रहता है। गर्मी अपना विकराल रूप धारण कर लेती है। इस संबंध में उप स्वास्थ्य केंद्र के डा कुलदीप सिंह ठाकुर का कहना है कि गर्मी के मौसम में खानपान में सावधानियां बरतनी चाहिए। वातावरण में उष्णता के कारण शरीर का पानी सूखने लगता है। अधिक से अधिक पानी पीना चाहिए। इससे शरीर का तापमान बना रहता है। धूप में निकलते समय टोपी, चश्मा, गमछा का उपयोग करना चाहिए और बासी भोजन खाने से बचना चाहिए।

थथथथ

इर्ीॅािीि घीाचैनज थ

ऽऽऽऽ

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close