Dhamtari News: धमतरी। थोक सब्जी मंडी में पिछले दो दिनों से मंडी प्रशासन ने वन-वे लागू किया है। मंडी पहुंचने के लिए पहले मार्ग को बंद कर दिया गया है, इससे थोक सब्जी व्यापारियों, चिल्लर सब्जी विक्रेताओं और सब्जी उत्पादकों में नाराजगी है।

पहला गेट खोलने की मांग को लेकर मंडी परिसर में जमकर हंगामा हुआ। फिर भी गेट नहीं खोला गया है। इसे लेकर 18 जनवरी को थोक सब्जी व्यापारी व मंडी प्रशासन के बीच बैठक आयोजित होगी, इसके बाद ही इस पर निर्णय होगा।

श्यामतराई स्थित थोक सब्जी मंडी में 17 जनवरी की सुबह से ही मंडी प्रशासन के कुछ कर्मचारियों ने मंडी पहुंच मार्ग के पहले मार्ग पर रस्सी लगाकर वन-वे लागू कर दिया। इस मार्ग से थोक सब्जी व्यापारियों, चिल्लर सब्जी विक्रेताओं और सब्जी उत्पादक किसानों को प्रवेश नहीं दिया गया।

इसे लेकर मंडी शुरू होने से पहले ही पहले गेट पर कर्मचारियों के साथ लंबे समय तक रास्ता खोलने की मांग को लेकर सब्जी व्यापारियों, चिल्लर सब्जी विक्रेताओं और सब्जी उत्पादक किसानों ने हंगामा मचाना शुरू कर दिया। मंडी कर्मचारियों पर जब दबाव बनना शुरू हुआ, तो वे रास्ता बंद करने मंडी प्रशासन के आदेश का हवाला देते रहे। रास्ता खोलने की मांग पर अड़ गए।

यहां पर माहौल खराब होने की जानकारी मिलने पर प्रभारी मंडी सचिव संजीव वाहिले भी पहुंचे। जहां उन्होंने सब्जी व्यापारियों, चिल्लर सब्जी विक्रेताओं और सब्जी उत्पादकों से चर्चा किए। चर्चा के बाद मामला शांत हुआ। कुछ थोक व्यापारियों की मानें, तो 18 जनवरी को शाम बंद रास्ते को लेकर व्यापारी व मंडी प्रशासन के बीच बैठक आयोजित होगी, जहां पर चर्चा कर इस विषय पर निर्णय लिया जाएगा। हंगामा के चलते सब्जी मंडी लेटलतीफी से शुरू हुई, इससे सभी वर्ग परेशान रहे।

व्यवसाय प्रभावित होने का आरोप

मंडी के पहले गेट बंद होने से कुछ थोक व्यापारियों ने आरोप लगाया है कि उनके व्यवसाय काफी प्रभावित हुआ है। दूसरे वाले गेट से मंडी में भीड़ बढ़ने की वजह से उनके पास सब्जी खरीदने ग्राहक नहीं आ पा रहे हैं, ऐसे में उन्हें काफी नुकसान हो रहा है। उनके सब्जी नहीं बिक पा रही है। हर रोज सब्जी का स्टॉक बच रहा है। इसे लेकर कई थोक व्यापारियों में मंडी प्रशासन के इस वन-वे के आदेश से आक्रोश है।

इस संबंध में प्रभारी मंडी सचिव संजीव वाहिले ने बताया कि तत्कालीन कलेक्टर द्वारा दिए गए निर्देश के अनुसार पहला गेट बंद है। एक तरफ से जाने का रास्ता और दूसरे तरफ से आने की व्यवस्था की गई है।

Posted By: Ravindra Thengdi

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags