धमतरी। सूखे से जूझ रहे किसान अब रूठे इंद्रदेव को मनाने जगह-जगह अखंड रामायण और हवन-पूजन कर रहे हैं। वहीं वनांचल व डुबान क्षेत्र के ग्रामीण अपने ईष्ट देव की पूजा-अर्चना कर पुरानी परंपरा के अनुसार कई रस्में निभा रहे हैं, ताकि बारिश हो। अकाल की काली छाया की आशंका से भयभीत ग्रामीणों अब ईश्वर को भक्तिभाव से प्रसन्न करने की कवायद में लग गए हैं।

सावन माह में उम्मीद के अनुसार बारिश नहीं हो रही है। कभी-कभार बादल छाने के साथ हल्की बारिश हो रही है, जो खेती-किसानी कार्य के लिए पर्याप्त नहीं है। अधिकांश दिन मार्च-अप्रैल माह की तरह आसमान में तेज धूप खिल रही है। सावन के मौसम में जेठ माह जैसी भारी उमस पड़ रही है।

इससे जनजीवन बेहाल है। दूसरी ओर खेतों में दरारें उभर रही हैं, जिससे धान फसल पर खतरा मंडराने लगा है। किसानों को सूखे की आशंका की चिंता सताने लगी है। ऐसे में किसान अब भक्ति-भावना के साथ रूठे इंद्रदेव को मनाने पूजापाठ कर रहे हैं। अंचल में ग्रामीण, किसान जगह-जगह अखंड रामायण कर हवन-पूजन कर रहे हैं। इंद्रदेव खुश होकर वर्षा कराएंगे।

दो दिन पहले नगर पंचायत आमदी में अखंड रामायण के साथ हवन पूजन हुआ। ग्राम पंचायत जुगदेही के किसान सालिक राम साहू, टोडर साहू, प्रशांत गिरी गोस्वामी, श्यामसुंदर साहू, भारत साहू, धनेश्वर साहू, भानू साहू, सोमप्रकाश साहू, वामन साहू, चिरौंजी साहू, डिगेश साहू ने बताया कि गांव में रामायण का दौर शुरू हो गया है। बारिश न होने से किसान परेशान हैं। इसलिए रामायण पाठ कर उपर वाले को प्रसन्न करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि क्षेत्र में पर्याप्त बारिश हो सके।

आमदी में पेंडरवानी में भी अखंड रामायण

पिछले दिनों ग्राम पेंडरवानी में ग्रामीणों ने 24 घंटे के अखंड रामायण का आयोजन किया। बारिश कराने की कामना के साथ ग्रामीणों ने एकजुट होकर आने वाले सोमवार 29 जुलाई को कामकाज बंद कर पूरे गांव के लोग शिवलिंग में सामूहिक रूप से बेलपत्ती चढ़ाएंगे और ओम नम: शिवाय का सामूहिक जाप करेंगे। नगर पंचायत आमदी में बारिश कराने की कामना को लेकर ग्रामीणों ने इंद्रदेव की पूजा-अर्चना की। 24 घंटे तक अनवरत अखंड रामायण कर भगवान से बारिश कराने की प्रार्थना की।