दुर्ग। दुर्ग जिले के संग्रहण केंद्रों में 11 लाख क्विंटल धान रखा है जिसका खाद्य विभाग विभाग द्वारा मिलिंग कराया जाना है। लेकिन जिले के राइस मिलर इन दिनों मिलिंग के लिए राजनांदगांव जिले से धान का उठाव कर रहे हैं।

शासन के इस निर्देश ने जिला खाद्य विभाग के अधिकारियों की चिंता बढ़ा दी है। इन दिनों जिले में लगातार बारिश हो रही है और कैप कवर से ढंके होने के बाद भी संग्रहण केंद्रों में रखा धान भीगने लगा है।

बारिश में भीगने की वजह से धान की गुणवत्ता प्रभावित होगी और मिलिंग के लिए उठाव को लेकर भी दिक्कत हो सकती है।

जिले में समर्थन मूल्य पर खरीदे गए धान की कस्टम मिलिंग का काम अब तक पूरा नहीं हुआ है। खरीद केंद्रों में अभी भी 22 हजार क्विंटल से अधिक धान रखा हुआ है। वहीं दूसरी ओर जिले के संग्रहण केंद्रों में भंडारित 11 लाख क्विंटल धान की भी कस्टम मिलिंग खराया जाना है।

यह धान बालोद और बेमेतरा जिले का है। जिसकी मिलिंग जिला प्रशासन द्वारा कराया जाएगा। खाद्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले के राइस मिलर इन दिनों राजनांदगांव जिले से धान का उठाव कर रहे हैं। इस संबंध में राज्य शासन द्वारा आदेश जारी किया गया है।

शासन के इस फरमान के बाद जिले के संग्रहण व खरीद केंद्रों में भंडारित धान के उठाव व मिलिंग को लेकर प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। खाद्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जिले में निरंतर बारिश हो रही है। हालाकि संग्रहण और खरीद केंद्रों में भंडारित धान को बारिश में भीगने से बचाने कैप कवर ढंक कर रखा गया है। लेकिन इसके बाद भी धान भीगने की सूचना आ रही है।

खरीदी के छह महीने बाद भी धान का उठाव नहीं हो पाया है। पहले धूप और बारिश में भीगने की वजह से धान की गुणवत्ता प्रभावित हो रही है। ऐसे में आगे उठाव को लेकर दिक्कत हो सकती है।

कतराने लगे हैं मिलर

अधिकारियों का कहना है कि बारिश शुरू होने के बाद कई मिलर धान की गुणवत्ता प्रभावित होना बताकर उठाव करने से कतराने लगे हैं।

कई केंद्रों में भंडारित धान की बोरियां फट गई है। धान बारिश में भीग गया है। बारिश के मौसम में धान के लोडिंग-अनलोडिंग को लेकर भी समस्या बनी रहती है। इस कारण भी मिलरों को केंद्रों से धान का उठाव करने में दिक्कत होती है।

दूसरे जिले का धान उठा रहे हैं मिलर

जिले के संग्रहण केंद्रों में भंडारित धान का कस्टम मिलिंग जिले के राइस मिलरों से कराया जाना है। लेकिन वर्तमान में मिलर राजनांदगांव जिले से धान का उठाव कर रहे हैं। इस कारण जिले में भंडारित धान की मिलिंग को लेकर समस्या हो रही है। बारिश में भीगने की वजह से धान की गुणवत्ता प्रभावित होने का अंदेशा है। भंडारित धान की मिलिंग जल्द कराए जाने के संबंध में जिला विपणन अधिकारी को पत्र लिखा जा रहा है।

-सीपी दीपांकर खाद्य नियंत्रक दुर्ग

---

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags