दुर्ग। मंगलवार को कलेक्टर जनदर्शन में पहुंचे संजय नगर भिलाई निवासी पुनीत दुर्गा ने गर्भस्थ शिशु के मौत के मामले की जांच कराए जाने की मांग की है।

प्रकरण के मुताबिक पुनीत दुर्गा ने 18 जुलाई 2022 की सुबह 11 बजे अपनी पत्नी पुष्पा दुर्गा को जिला अस्पलात दुर्ग में भर्ती कराया था। तब मां और गर्भस्थ शिशु का स्वास्थ्य अच्छा था। लेकिन रात करीब नौ बजे गर्भस्थ शिशु की धड़कन नहीं है कर आवेदक से कोरे कागज में हस्ताक्षर कराया गया।

रात नौ बजे ही सोनोग्राफी के लिए बोला गया। आवेदक के मुताबिक 19 जुलाई को बच्चा मृत पैदा हुआ। आवेदक ने यह आरोप लगाते हुए कहा है कि ड्यूटी में मौजद डाक्टर और नर्स ने रातभर मां-बेटे को नदीं देखा और इस लापरवाही के कारण बच्चा मृत पैदा हुआ।

इस मामले में उन्होंने जांच उपरांत संबंधितों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

मंगलवार को कलेक्टोरेट सभाकक्ष में हुए जनदर्शन में विभिन्ना मांगों व शिकायतों से संबंधित 20 आवेदन मिले। प्राप्त आवेदनों पर एडीएम ने सुनवाई की। रिसाली निगम क्षेत्र में रहने वाली 73 वर्षीय वृद्ध महिला ने वृद्धा पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की। वृद्धा ने जनदर्शन में आवेदन कर बताया कि रिसाली निगम का गठन होने के बाद तीन साल से उसे पेंशन राशि नहीं मिल रही है।

वे कई बार रिसाली निगम का चक्कर काट चुकी है। सेक्टर-2 भिलाई निवासी एक आवेदक ने एक निजी स्कूल के खिलाफ शिकायत कर बताया है कि स्कूल प्रबंधन द्वारा उसके बच्चे की टीसी अंक सूची प्रदान नहीं किया जा रहा है। आवेदक के मुताबिक दुर्घटना में पैरों से दिव्यांग होने की वजह से वह स्कूल का फीस नहीं भर पाया।

आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। टीसी और अंकसूची नहीं मिलने की वजह से बच्चे का कालेज में एडमिशन नहीं हो पा रहा है।

- शिकायतकर्ता ने जिला अस्पताल के डाक्टर और नर्स पर लगाया इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close