दुर्ग। मौसम में बदलाव के साथ ही जिला अस्पताल के ओपीडी में इलाज के लिए आने वाले मरीजों की संख्या बढ़ गई है। मंगलवार को करीब 900 मरीज पहुंचे।

जिसमें सर्दी, खांसी, डायरिया, हाथ-पैर व सिर दर्द सहित अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीज शामिल हैं। सर्दी,खांसी से पीड़ित मरीजों का कोरोना जांच भी कराया जा रहा है।

आम तौर पर जिला अस्पताल के ओपीडी में इलाज के लिए प्रतिदिन औसत 500 से 600 मरीज पहुंचते हैं। मंगलवार को जिला अस्पताल के ओपीडी में इलाज के लिए आने वाले लोगों की लंबी लाइन देखने को मिली। जिला अस्पताल से प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार को ओपीडी में इलाज के लिए 900 मरीज पहुंचे।

जिसमें सर्दी, खांसी, बुखार, डायरिया सहित अन्य बीमारी से पीड़ित मरीज शामिल हैं। इलाज के लिए आने वाले मरीजों में अधिकांश हाथ-पैर और सिरदर्द होने की शिकायत भी कर रहे हैं।

मानसून की दस्तक के साथ ही मौसम में रोजाना उतार चढ़ाव देखने को मिल रहा है। दिन में मौसम कई बार बदल रहा है जिसका असर लोगों के स्वास्थ्य पर पड़ रहा है।

सर्दी,खांसी पीड़ितों के लिए अलग काउंटर

जिले में कोरोना संक्रमण का दर लगातार बढ़ रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए जिला अस्पताल प्रबंधन द्वारा ओपीडी में उपचार के लिए आने वाले सर्दी, खांसी से पीड़ित मरीजों की जांच के लिए कक्ष क्रमांक-15 में काउंटर बनाया गया है। यहां सर्दी, खांसी से पीड़ित मरीजों को कोरोना जांच के लिए भेजा जाता है।

अस्पताल परिसर में ही कोरोना जांच की व्यवस्था बनाई गई है। जिला अस्पताल दुर्ग के सिविल सर्जन डा.वाईके शर्मा ने बताया कि सर्दी, खांसी का इलाज के लिए ओपीड़ी पहुंचे 64 मरीजों को कोरोना जांच के लिए भेजा गया।

--

जिले में कोरोना का संक्रमण दर लगातार बढ़ रहा है। इसे ध्यान में रखते हुए सर्दी,खांसी से पीड़ितों का कोरोना जांच कराया जा रहा है। लोगों को मास्क पहने और कोरोना से बचाव के लिए किए जाने वाले अन्य उपायों का भी पालन करने कहा जा रहा है।

-वायके शर्मा, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल दुर्ग

---

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close