दुर्ग। नईदुनिया प्रतिनिधि

दुर्ग निगम के 60 वार्डों में चुनाव के लिए प्राप्त नामांकन पत्रों की शनिवार को स्कूटनी की गई । स्कूटनी के दौरान वार्ड क्रमांक-22 में एक नामांकन पत्र को निरस्त किया गया। वहीं दो अभ्यर्थियों के नामांकन पर आपत्ति लगाई गई थी जिसे परीक्षण के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने खारिज कर दिया।

दुर्ग निगम के 60 वार्डों के लिए कुल 375 अभ्यर्थियों ने नामांकन पत्र भरा है। शनिवार को जिला निर्वाचन अधिकारी व रिटर्निंग ऑफिसर कलेक्टर अंकित आनंदन ने अपने कक्ष में सभी वार्डों में अभ्यर्थियों द्वारा भरे गए नामांकन पत्रों की जांच की। इस दौरान अभ्यर्थी और विभिन्ना राजनीतिक दलों के जन प्रतिनिधि मौके पर मौजूद रहे। दुर्ग निगम के वार्ड क्रमांक-22 से एक नामांकन पत्र खारिज हुआ। यहां से अभ्यर्थी अरुण जोशी ने नामांकन भरा था। जांच के दौरान नामांकन पत्र में टैक्स भुगतान से संबंधित निगम का एनओसी जमा नहीं होना पाया गया। स्कूटनी के दौरान मौके पर अभ्यर्थी अरुण जोशी मौजूद नहीं थे। निर्वाचन अधिकारी ने उक्त नामांकन पत्र को निरस्त कर दिया। इस तरह दुर्ग निगम के 60 वार्डों के लिए 374 अभ्यर्थियों का नामांकन सही होना पाया गया।

जाति प्रमाण पत्र को लेकर लगाई आपत्ति

वार्ड क्रमांक-42 से कांग्रेस प्रत्याशी मनीबाई गीते के नामांकन पत्र में उसकी जाति प्रमाण पत्र को लेकर आपत्ति लगाई गई थी। आपत्ति वार्ड के पूर्व पार्षद संजय सिंह ने लगाई गई थी। संजय सिंह ने अपनी आपत्ति में यह जिक्र किया था कि छत्तीसगढ़ शासन की सूची में कुनबी (मराठी) जाति को ओबीसी की सूची में शामिल नहीं किया गया है। ओबीसी प्रमाण पत्र बनाने बीते 50 वर्षों का रिकार्ड शासन के द्वारा उक्त जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए मांगा जाता है। वार्ड क्रमांक-42 ओबीसी महिला वर्ग के लिए आरक्षित है। इस कारण उक्त अभ्यर्थी का नामांकन निरस्त किए जाने योग्य है। आपत्ति पर जिला निर्वाचन अधिकारी ने जाति प्रमाण पत्र का अवलोकन किया। प्रत्याशी मनीबाई गीते द्वारा तहसीलदार दुर्ग द्वारा जारी अस्थायी सामाजिक प्रास्थिति प्रमाण-पत्र प्राप्त कर प्रस्तुत किया गागाय है। जो नाम निर्देशन पत्र में संलग्न है। जिला निर्वाचन अधिकारी ने नामांकन पत्र में संलग्न दस्तावेजों का हवाला देते हुए उक्त आपत्ति को खारिज कर दिया। साथ ही आपत्तिकर्ता से कहा वे चाहें तो न्यायालय जा सकते है। वार्ड क्रमांक-31 से कांग्रेस प्रत्याशी मदन जैन के नामांकन पर सतीश श्री श्रीमाल ने आपत्ति लगाई थी। आपत्तिकर्ता का कहना था कि उक्त अभ्यर्थी ने निगम का एनओसी जमा नहीं किया है। प्रत्याशी के दस्तावेजों का अवलोकन के बाद उक्त आपत्ति को खारिज कर दिया गया।

कलेक्टोरेट परिसर में लगा रहा मजमा

नामांकन पत्रों की स्कूटनी के दौरान कलेक्टोरेट परिसर में अभ्यर्थियों व उनके समर्थकों तथा राजनीतिक दलों को जन प्रतिनिधियों का मजमा लगा रहा। प्रत्याशी चुनाव प्रचार छोड़कर स्कूटनी के लिए अपनी बारी आने का इंतजार करते बैठे रहे। इस दौरान प्रत्याशियों में बैचेनी भी देखने को मिली। किसी भी आपत्ति की सूरत में उसका समाधान किस तरह से किया जा सकता है इस पर भी विचार विमर्श चलता रहा।

उतई नगर पंचायत में एक अभ्यर्थी का नामांकन निरस्त

जिले के अन्य निकायों में भी अभ्यर्थियों द्वारा भरे गए नामांकन पत्रों की जांच संबंधित निकायों में सहायक रिटर्निंग अधिकारियों द्वारा की गई। जिसमें नगर पंचायत उतई में एक अभ्यर्थी का नामांकन निरस्त किया गया। अभ्यर्थी ने वार्ड क्रमांक-12 से नामांकन भरा था। अभ्यर्थी की आयु 21 वर्ष से कम होना पाया गया। यहां 74 में से 73 नामांकन वैध होना पाया गया। नगर निगम पालिक निगम भिलाई के दो वार्डों के लिए 12 अभ्यर्थियों द्वारा भरा गया नामांकन वैध होना पाया गया। नगर पालिका परिषद कुम्हारी में सभी 85, अहिवारा में 67, पाटन में 49 और नगर पंचायत धमधा में भी सभी 49 नामांकन पत्र को वैध होना पाया गया। इस तरह जिले के छह निकायों के लिए कुल 711 नाम निर्देशन पत्र दाखिल किया गया था। जिसमें से दो निरस्त हुए। अब मैदान में कुल 709 अभ्यर्थी शेष रह गए हैं।

नाम वापसी नौ को

नामांकन पत्रों की जांच के बाद अब नाम वापसी व चुनाव चि- आवंटन की प्रक्रिया शेष रह गई है। नाम वापसी के लिए नौ दिसंबर को दोपहर तीन बजे तक का समय निर्धारित है। तीन बजे के बाद मैदान में शेष बचे अभ्यर्थियों को चुनाव चि- का आवंटन कर दिया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket