दुर्ग। फोरलेन पर चल रहे फ्लाईओवर ब्रिज के निर्माण का गुरुवार शाम कलेक्टर और एसपी, नेशनल हाइवे (एनएच )के अधिकारियों के साथ निरीक्षण करने पहुंचे। उन्होंने फ्लाईओवर ब्रिज के साथ-साथ सुपेला रेलवे फाटक,आकाश गंगा पार्किंग स्थल का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान उन्होंने एनएच के अधिकारी और पुलिस को समन्वय बनाकर ट्रैफिक व्यवस्था को व्यवस्थित करने कहा। इससे पहले कलेक्टर ने एनएच के अधिकारियों की बैठक लेकर निर्माण कार्य में लेट लतीफी को लेकर फटकार लगाई।

कलेक्टर पुष्पेंद्र कुमार मीणा,एसपी डा.अभिषेक पल्लव,भिलाई निगम आयुक्त व एनएच के अधिकारियों के साथ फोरलेन पर चल रहे फ्लाईओवर ब्रिज सहित अन्य निर्माण कार्यों का जायजा लिया। अधिकारियों ने पहले फ्लाईओवर का निरीक्षण किया और शेष बचे कार्यों के संबंध में जानकारी ली। इसके बाद सुपेला रेलवे फाटक पहुंचे। निरीक्षण के दौरान कलेक्टर ने आकाश गंगा में पार्किग व्यवस्था बनाए जाने के संबंध में निर्देश दिए। निरीक्षण के पहले कलेक्टर ने नेशनल हाईवे में चल रहे निर्माण कार्यों को लेकर समीक्षा बैठक ली। उन्होंने कार्य में लेटलतीफी को लेकर रायल कंस्ट्रक्शन कंपनी के अधिकारियों पर नाराजगी जताई। इस पर अधिकारियों ने कलेक्टर को बताया कि सामान चोरी हो जाने की वजह के कारण कार्य में विलंब हो रहा है। इस पर कलेक्टर ने एनएच के अधिकारियों को सीसीटीवी लगवाने कहा। ताकि वस्तु स्थिति के संबंध में जानकारी मिल सके। बैठक में कलेक्टर को निर्माणी कंपनी ने बताया कि 30 अक्टूबर कुम्हारी फ्लाईओवर, 19 नवंबर तक सुपेला, 31 मार्च तक पावर हाउस और मई 2023 तक ट्रांसपोर्ट नगर का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।

यह है वर्तमान में स्थिति

फोरलेन पर 349 करोड़ की लागत से चार फ्लाईओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। इसमें पहले चरण में कुम्हारी व डबरापारा में काम शुरू किया गया था। वहीं दूसरे चरण में सुपेला और पावर हाउस को लिया गया। इनमें से एक भी ओवरब्रिज अभी तक पूरी तरह तैयार नहीं हो पाया है। इसके कारण आम लोगों को दिक्कत हो रही है।

1.पावर हाउस चौक

ओवरब्रिज की कुल लंबाई 1210 मीटर है। मेन कैरिज वे 14 मीटर चौड़ा होगा। कुल 18.50 मीटर ओवरब्रिज की चौड़ाई है। 20 पिलर के सहारे ओवरब्रिज बनाया गया है। एक छोर आइटीआइ कैंपस के सामने तो दूसरा छोर होटल वाइल्ड फायर के समीप है।

वर्तमान स्थिति- यहां पर काम अभी धीरे ही चल रहा है। नंदिनी से टाउनशिप की ओर गुजरे ओवरब्रिज के ठीक ऊपर से गुजरने वाले फोरलेन के ओवरब्रिज पर अभी स्ट्रक्चर रखने का काम चल रहा है। वहीं फ्लाई ओवर का शेष काम भी जारी है।

2. कुम्हारी

यहां फारेलेन पर ओवरब्रिज 600 मीटर लंबा बनाया गया है। यहां पर ब्रिज में कुल नौ पिलर पर बना है। जो फोरलेन पर कृष्णा अस्पताल के पास से बालाजी अस्पताल के सामने तक है। इसमें आर्च ब्रिज का प्रयोग किया गया है।

वर्तमान स्थिति- फोरलेन के व्यस्ततम एवं दुर्घटना के लिहाज खतरनाक चौक में से एक कुम्हारी चौक पर इस ओवरब्रिज का एक लेन रायपुर-दुर्ग हल्के वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया गया है। वहीं दुर्ग-रायपुर लेन पर काम अभी भी शेष है।

3. डबरापारा

डबरा पारा तिराहा पर ओवरब्रिज की लंबाई 580 मीटर होगी। यहां कुल नौ पिलर होंगे। डबरापारा में वर्तमान रेलवे ओवरब्रिज से ही जुड़ा ओवरब्रिज होगा जो दूसरी छोर पर अग्रवाल समाज के मंगल भवन के सामने तक होगा।

वर्तमान स्थिति-फोरलेन पर बनने वाले चारों ओवरब्रिज में से यह सबसे कम लंबाई वाला ओवरब्रिज है। वर्तमान में ओवरब्रिज के पिलर का निर्माण चल रहा है। डबरा पारा नहर और बिजली कंपनी के साइड में काम में देरी के कारण लगातार जाम भी लग रहा है।

4. सुपेला

यह ओवरब्रिज 1570 मीटर लंबा है। चौड़ाई अन्य फोरलेन के अन्य ओवरब्रिज की तरह ही है। यहां पावर हाउस वाले फ्लाई ओवर से दो गुना 40 पिलर बनाए गए हैं। एक छोर करबला मैदान के पास तो दूसरा छोर सुपेला चौक के आगे संजय नगर गार्डन के सामने तक है।

वर्तमान स्थिति- इस ओवरब्रिज का निर्माण लगभग पूरा होने को है। इसके रायपुर-दुर्ग लेन पर काम को फायनल टच दिया जा रहा है। वहीं दूसरे लेन पर अभी गर्डर लांचिंग के बाद क्रांक्रीटीकरण का काम जारी है। इसके पूरा होने में अभी समय लगेगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close