दुर्ग। दुर्ग निगम अपनी ही संपत्ति की सुरक्षा नहीं कर पा रहा है। निगम के तहसील कार्यालय स्थित पुराने प्रशासनिक भवन का ताला टूटा हुआ है। यह असमाजिक तत्वों का अड्डा बन गया है। पुराने भवन में निगम ने कुछ विभागों का दस्तावेज रखा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की कुछ सामाग्रियां भी रखी हुई है।निगम भवन का रख रखाव तो नहीं कर पा रहा है लेकिन इसकी सुरक्षा को लेकर भी ध्यान नहीं दे रहा है। तहसील कार्यालय दुर्ग के सामने स्थित निगम के पुराने प्रशासनिक भवन में स्वास्थ्य विभाग और राजस्व विभाग का कार्यालय संचालित हो रहा था। वर्ष 2007 में निगम ने इस कार्यालय को नया बस स्टैंड स्थित रापनि डिपो में शिफ्ट किया। शिफ्ट करने के बाद इस भवन में ताला लगा दिया गया। लेकिन कुछ साल बाद इसमें रैन बसेरा का संचालन होने लगा। सालभर पहले रैन बसेरा भी बंद हो गया।

निगम प्रशासन ने भवन की सुध नहीं ली

रैन बसेरा बंद होने के बाद निगम प्रशासन ने भवन की सुध नहीं ली। कुछ महीने पहले असमाजिक तत्वों ने भवन के प्रवेश द्वार लगे चैनल गेट को तोड़ दिया। भवन के प्रथम तल में चार कमरे हैं। इन कमरों में निगम के कुछ विभागों के पुराने दस्तावेजों को रखा हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की कुछ सामाग्रियां भी भवन में रखी हुई है। ताला टूटने के बाद यह भवन असमाजिक तत्वों का अड्डा बन गया है। रात के समय लोग भवन के भीतर नजर आते हैं।

रिकार्ड रूम बनाने की तैयारी

निगम का एक और रिकार्ड रूम शनिचरी बाजार स्थित पानी टंकी के नीचे बने कमरे में संचालित हो रहा है। इस क्षेत्र में अमृत मिशन योजना के तहत नई पानी टंकी का निर्माण किया गया है। नई पानी टंकी बनने के बाद पुरानी टंकी व बने कमरे को तोड़ा जा रहा है। निगम प्रशासन यहां संचालित रिकार्ड रूम को प्रशासनिक भवन में शिफ्ट करने की योजना बना रहा है। लेकिन रख रखाव के अभाव में प्रशासनिक भवन भी जर्जर हो रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local