दुर्ग। नईदुनिया प्रतिनिधि

सरपंच पद के लिए आरक्षण प्रक्रिया को पहले राज्य सरकार ने स्थगित कर दिया था। बाद में पूर्व निर्धारित तिथि के मुताबिक आरक्षण किए जाने का आदेश जारी किया गया। आनन-फानन में आदेश जारी होने के कारण सोमवार को सरपंच पद के लिए आरक्षण नहीं किया जा सका। वहीं शासन के आदेश को ध्यान में रखते हुए कई जनप्रतिनिधि आरक्षण के संबंध में जानकारी लेने जनपद पंचायत दुर्ग पहुंच गए।

राज्य शासन द्वारा त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जिला, जनपद पंचायत अध्यक्ष व सदस्य तथा सरपंच और पंच पद के लिए आरक्षण के संबंध में दिशा निर्देश पहले जारी किया गया था। दिशा निर्देश के साथ-साथ किस पद के लिए कब और कहां आरक्षण किया जाना है, इसकी तिथि तथा स्थान निर्धारित किया गया था। लेकिन इस बीच सरकार द्वारा सरपंच पद के लिए आरक्षण की प्रक्रिया पर रोक लगाते हुए अन्य पदों के लिए आरक्षण तय समय सीमा में होने का आदेश जारी किया गया। सरपंच पद पर आरक्षण को लेकर रोक लगाए जाने के बाद निर्वाचन कार्यालय द्वारा इस संबंध में नए दिशा निर्देश का इंतजार कर जा रहा था। लेकिन इस दौरान शनिवार देर रात सरपंच पद के लिए आरक्षण पूर्व निर्धारित तिथि के मुताबिक कराए जाने का निर्देश जारी कर दिया गया। लेकिन रविवार अवकाश होने के कारण निर्वाचन कार्यालय ग्राम पंचायतों को इस संबंध में जानकारी नहीं दे पाया। नया आदेश जारी होने के बाद सरपंच पद पर आरक्षण को लेकर फिर से अधिसूचना जारी कर पंचायतों को अवगत कराना होगा। वैसे भी शासन के दिशा निर्देशों के मुताबिक सरपंच पद पर आरक्षण की प्रक्रिया हर हाल में 24 नवंबर तक किया जाना है। इस लिहाज से दुर्ग व धमधा ब्लॉक में सरपंच पद का आरक्षण 23 नवंबर को किए जाने की चर्चा है।

पहुंचे जनपद व जिला पंचायत सदस्य

सरपंच पद पर आरक्षण के संबंध में जानकारी लेने दुर्ग ब्लॉक के कई सरपंच, जिला पंचायत सदस्य व जनपद सदस्य सोमवार दोपहर 12 बजे जनपद पंचायत कार्यालय दुर्ग पहुंच गए। लेकिन कार्यालय परिसर में सन्नाटा नजर आने पर वे अधिकारियों से वस्तु स्थिति की जानकारी लेने लगे। जिला पंचायत सदस्य मुकेश बेलचंदन, जनपद पंचायत दुर्ग के सभापति पन्नाालाल यादव ने बताया कि पंचायत विभाग द्वारा शनिवार को जो आदेश जारी किया गया है उसके मुताबिक सोमवार को सरपंच पद के लिए आरक्षण किया जाना था, लेकिन इस संबंध में प्रशासन की ओर से किसी तरह की अलग से जानकारी नहीं दी गई। बड़ी संख्या में जनपद पंचायत कार्यालय पहुंचे जनप्रतिनिधि इस मामले में प्रशासन की कार्यप्रणाली को लेकर नाराजगी भी जता रहे थे।

नहीं हुई कार्रवाई

शासन द्वारा जो संशोधित आदेश जारी किया गया है उसके मुताबिक पूर्व निर्धारित तिथि में सरपंच पद का आरक्षण किया जाना था। पूर्व निर्धारित तिथि के मुताबिक दुर्ग ब्लॉक के सरपंच पदों के लिए आरक्षण सोमवार को होना था। लेकिन संशोधित आदेश के संबंध में प्रशासन पंचायतों को जानकारी उपलब्ध नहीं करा पाया। इस कारण सरपंच पद के लिए आरक्षण की प्रक्रिया टल गई।

- रिवेंद्र यादव, अध्यक्ष, दुर्ग ब्लॉक सरपंच संघ

---

Posted By: Nai Dunia News Network