सेलूद। ग्राम पंचायत सेलूद में आज गुरुवार को सुबह मनरेगा में काम करने वाले मजदूरों ने कम मजदूरी मिलने को लेकर मानिकचौरी जाने वाले सड़क पर करीब दो घंटे तक चक्काजाम कर दिया। मजदूरों के आक्रोश को देखते हुए उतई पुलिस व प्रशासनिक अफसरों का सहारा लेना पड़ा। तब जाकरमजदूर शांत हुए।

सेलूद में मनरेगा कार्य के तहत तालाब गहरीकरण व सुंदरीकरण का कार्य किया जा रहा है। जिसमें काम करने वाले मजदूरों ने मजदूरी कम मिलने को लेकर आक्रोशित हो गए और चक्काजाम पर उतर आए। मजदूरों का कहना था कि हमने पूरा काम किया है। लेकिन मेट द्वारा कम हाजरी भरकर वेतन में कटौती किया है। इसकी शिकायत सरपंच खेमिन खेमलाल साहू को किया गया। लेकिन कोई सहयोग नहीं मिला। सुबह सात बजे से चक्काजाम शुरू किया गया। लगभग दो घंटे तक सड़क के दोनों ओर गाड़ियों का जाम लग गया । जानाकरी मिलते ही उतई थाना प्रभारी मोनिका पांडेय ने स्टाफ के साथ पहुंचकर मजदूरों को समझाइश दी। लेकिन मजदूर नहीं माने। तब जिला पंचायत सीईओ अश्वनी देवांगन, जनपद सीईओ मनीष साहू, तकनीकी सहायक प्रदीप सोनवानी ने पहुंचकर चर्चा किए । सीईओ ने मजदूरों को आश्वस्त किया कि शुक्रवार को बैठक कर चर्चा की जाएगी।

आंधी-तूफान से परेशान रहे ग्रामीण

धमधा। धमधा क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में विगत दिनों आए आंधी तूफान से भारी परेशान रहे। 15 मई को आंधी तूफान व बारिश के साथ ओले भी गिरे। जिससे बड़े-बड़े पेड़ गिर गए। लोगों की दुकान में लगे टीन शेड फ्लैक्स एवं बाहर के सामान की ज्यादा हानि हुई। कई जगह बिजली खंभे के तार टूट गए। जिसके कारण कुछ गांव में बिजली बंद हो गई। सुधारने में बिजली विभाग को दो-तीन दिन लग गए। इस कारण लोगों को अंधेरे में रात गुजारनी पड़ी। धमधा से लगे ग्राम बिरझापुर में दाल मिल जो कि श्री अग्रसेन अनाज उद्योग के नाम से है जिसके संचालक अनिल कुमार अग्रवाल है। आंधी तूफान में उनका बाउंड्रीवाल गिर गया और टीन शेड उखड़ने के कगार पर आ गया। हमारे नईदुनिया प्रतिनिधि द्वारा पूछने पर लगभग 15 लाख के आसपास नुकसान होना बताया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close