नगर निगम दुर्ग सीमा क्षेत्र के नजूल शीट पर स्थायी पट्टेदारों को अब शासन की जनहित योजना के तहत काबिज पट्टे भूमि का मालिकाना हक मिल सकेगा। इसके लिए पट्टेदारों को अतिक्रमित भूमि को गाइड लाइन की दर से राशि जमा करने पर कलेक्टर द्वारा भूमिस्वामी का हक में परिर्वतन किया जा सकेगा।

निगम आयुक्त इंद्रजीत बर्मन ने बताया कि राज्य शासन ने जनहित में योजना लागूू करते हुए दुर्ग नगर के नजूल शीटो के स्थाई पट्टेदारों को राज्य शासन के आदेशानुसार गैर रियायती दर पर आबंटित भूमि को गाइडलाइन की दर की कीमत की दो प्रतिशत राशि एवं रियायती दर पर आवंटित भूमि को गाइड लाइन की दर की कीमत 102 प्रतिशत राशि एवं अतिक्रमित भूमि को गाइड लाइन की दर की कीमत की 152 प्रतिशत राशि जमा करने पर पट्टाधारी आवेदक अपने नजूल सीट की भूमि को भूमिस्वामी हक में परिर्वतन कर सकेगें। उन्होनें बताया भूमिस्वामी हक प्राप्त करने हेतु आवेदक अपना आवेदन कलेक्टर नजूल शाखा दुर्ग में प्रस्तुत कर सकते हैं। आवेदक को आवेदन के साथ शपथ पत्र एवं पट्टे की प्रति संलग्न करना अनिवार्य है। इस योजना से पट्टा नवीनीकरण करने की आवश्यकता नहीं होगी एवं नगर तथा ग्राम निवेश के भूमि प्रयोजन के अनुसार व्यवसायिक प्रयोजन पर भी परिवर्तित किया जा सकेगा । इसके अलावा आवेदक बैंक लोन भी ले सकेगें, तथा भूमिस्वामी के रुप में भूमि विक्रय भी सरलता से कर सकते हैं। आयुक्त ने कहा है कि दुर्ग नगर नजूल शीटों के स्थाई पट्टेदार राज्य शासन की इस जनहित योजना का लाभ उठायें और अपने स्थायी पट्टे की भूमि का स्वयं मालिक बनें ।

--------------

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket