दुर्ग। शहर में 13 करोड़ की लागत से रायपुरनाका और धमधा नाका रेलवे क्रासिंग में बन रहे दोनों अंडरब्रिज का निर्माण दो साल से अधूरा पड़ा है। वरिष्ठ विधायक अरुण वोरा ने रेलवे विभाग की कछुआ चाल पर नाराजगी जताते हुए कहा है कि काम अधूरा रहने से पटरीपार के हजारों नागरिकों आवागमन में परेशानी हो रही है। वोरा ने कलेक्टर डा.सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे से अपील की कि शहर में चल रहे विकास कार्यों में गति लाने सरकारी विभागों के अफसरों की बैठक लेकर कार्य शीघ्र गति से पूरा कराएं।

विधायक वोरा ने कहा कि धमधा नाका अंडरब्रिज का निर्माण अधूरा छोड़ देने से खोदे गए हिस्से पर दोनों किनारों से मिट्टी धसक रही है। यहां गंभीर हादसा होने की आशंका भी है। अंडरब्रिज निर्माण कार्य अधूरा छोड़ देने के कारण आवागमन बंद होने से आम नागरिकों के अलावा व्यवसायी भी परेशान हैं। अंडरब्रिज के दोनों ओर के नागरिक परेशानियों से जूझ रहे हैं। उन्होंने सेतु विभाग के अफसरों को दोनों अंडरब्रिज का निर्माण कार्य तत्काल पूरा करने के निर्देश दिए हैं। धमधा नाका में 11 करोड़ की लागत से अंडरब्रिज, रायपुर नाका क्रासिंग में आठ करोड़ की लागत से निर्माण कार्य शुरू किया गया था। धमधा नाका अंडरब्रिज मार्च 2019 तक और रायपुर नाका अंडरब्रिज अप्रैल 2019 तक पूरा होना था। तकनीकी कारणों से काम अभी तक अधूरा है। रेलवे अफसरों ने पूर्व में धमधा नाका अंडरब्रिज का निर्माण अक्टूबर -2021 और रायपुर नाका अंडरब्रिज जुलाई- 2021 तक पूर्ण करने की संभावना जताई थी। बुधवार को वोरा ने अधूरे अंडरब्रिज का निरीक्षण करने के बाद सेतु विभाग और रेलवे के अफसरों से चर्चा की है। अफसरों ने वोरा को बताया कि मार्च- 2022 तक हर हाल में निर्माण कार्य पूरा कर लिया जाएगा। वोरा ने इससे पहले शहर में रायपुरनाका और धमधानाका में बन रहे अंडरब्रिज का काम धीमी गति से होने पर विधानसभा में भी सवाल उठा चुके हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local