दुर्ग। बीआइटी दुर्ग में 25 अगस्त को स्मार्ट इंडिया हैकाथान-2022 का शुभारंभ महाविद्यालय के सभागार में किया गया। इस कार्यक्रम का आयोजन संयुक्त रूप से केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल, अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) आदि द्वारा किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में 62 मंत्रालयों, सार्वजनिक क्षेत्रक उपक्रमों जैसे इसरो, कोल इंडिया, खेल मंत्रालय, एनडीआरएफ, पुलिस विभाग आदि द्वारा प्रदत्त विभिन्ना सामरिक विषयों जैसे, स्मार्ट व्हीकल, स्मार्ट एजुकेशन, स्मार्ट आटोमेशन, क्लीन एंड ग्रीन टेक्नोलाजी, रोबोटिक्स एंड ड्रोन पर प्राब्लम स्टेटमेंट दिए है, जिसमें देशभर से 23 टीमें सम्मिलित हुई है। पांच दिनों में समस्याओं का करेंगे हल :ये टीमे पांच दिनों तक अपनी प्राब्लम स्टेटमेंट (समस्या पर बयान) पर कार्य करेंगी एवं प्रत्येक समस्या के विजेता को एक लाख रुपये दिया जाएगा। द्वितीय विजेता

को 75 हजार और तृतीय को 50 हजार रुपये दिया जाएगा। बीआइटी के निदेशक डा.अरुण अरोरा ने बताया कि यह इस वर्ष देशभर के विभिन्ना क्षेत्रों में 75 शैक्षणिक संस्थाओं में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। यहां चयनित 23 टीम के 157 प्रतिभागी सम्मिलित हुए है।

वक्ताओं ने रखे विचार

महाविद्यालय के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में उपस्थित शिक्षा मंत्रालय की नोडल आफिसर हेड स्वाति ठाकुर ने कहा कि ऐसी स्पर्धाओं का ही असर है कि अब देश में नवचारों के साथ ही उन्हें पेटेंट कराने की ओर रुझान बढ़ा है। विशिष्ट अतिथि बीएसएनएल के मुख्य जनरल मैनेजर टेलीकम्युनिकेशन पीके.सिंग ने कहा कि यह कार्यक्रम न केवल विद्यार्थियों बल्कि देश की तकनीकी उन्नायन के लिए बहुत सहायक है। मुख्य अतिथि इस कार्यक्रम में मुख्यातिथि सेल के निदेशक केके.सिंग ने कहा कि अगर हमारे देश को आगामी 25 वर्ष में एक विकसित राष्ट्र के लक्ष्‌य को प्राप्त करना है तो हमें विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ-साथ अनुसंधान एवं नवाचार के साथ जोड़ना होगा। महाविद्यालय के प्राचार्य डा.मोहन कुमार गुप्ता ने आभार व्यक्त किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close