दुर्ग। जिले की 90 सहकारी समितियों में एक दिसंबर से धान खरीदी शुरू हो रही है। इसके लिए जिला प्रशासन ने तैयारी शुरू कर दी है। समर्थन मूल्य पर धान बेचने किसानों को सोमवार से टोकन जारी किया जा रहा है। पहले दिन जिले की 62 समितियों में 1120 किसानों को 47 हजार क्विंटल धान बेचने के लिए टोकन जारी किया गया।

धान खरीदी के दौरान केंद्रों में अव्यवस्था की स्थिति निर्मित न हो इसे ध्यान में रखते हुए खरीदी शुरू होने के पहले टोकन जारी किया जाता है। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग द्वारा सोमवार को टोकन जारी करने का काम शुरू किया गया। समितियों में संविदा पर काम करने वाले कम्प्यूटर आपरेटर सोमवार को हड़ताल पर रहे। लेकिन समितियों में अतिरिक्त आपरेटर होने की वजह से टोकन वितरण पर इसका विशेष असर नहीं पड़ा। कुछ केंद्रों मे मेनुवल टोकन जारी करना बताया जा रहा है।

किसानों से दबाव डालकर लिया जा रहा सहमति पत्र

छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन ने टोकन लेने समितियों में पहुंचने वाले किसानों पर बारदाने उपलब्ध कराने दबाव डालकर सहमति पत्र जमा करवाने का आरोप लगाया है। किसानों का कहना है कि 50 फीसद धान की खरीदी सरकार ने किसानों के बोरों में करने का निर्णय लिया है। सरकार ने किसानों को आश्वस्त किया है कि यह ऐच्छिक होगा लेकिन समितियों द्वारा इसके लिए किसानों पर दबाव बनाया जा रहा है।

धान खरीदी व बारदाना व्यवस्था को लेकर प्रशिक्षण

जिले में खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान उपार्जन एवं बारदाना व्यवस्था के संबंध में जिले के राजस्व, खाद्य, सहकारिता एवं जिला सहकारी केंद्रीय बैंक से संलग्न समस्त सेवा सहकारी समिति के अध्यक्ष, समिति प्रबंधक एवं कंप्यूटर आपरेटर को धान उपार्जन के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्रशिक्षण में खरीदी पूर्णताःआनलाइन होने तथा टोकन जारी करने संबंधी नवीन निर्देशों से अवगत कराया गया। इसके अतिरिक्त कृषकों से धान ढेरी लगवा कर एवं धान की गुणवत्ता का परीक्षण किए जाने प्रतिदिन कृषकों से खरीदे गए धान की तौलाई, सिलाई एवं स्टेकिंग के संबंध में प्रशिक्षण दिया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local