दुर्ग। समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए बारदाने की किल्लत से निपटने प्रशासन ने जुगाड़ लगाया है। स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में मध्यान्ह भोजन के लिए चावल सप्लाई की जाती है। चावल सप्लाई के लिए उपयोग में लाए गए बारदानों को भी मंगाया गया है। इसके लिए डीईओ और आंगनबाड़ी केंद्र के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग को पत्र लिखा गया है। जिस क्षेत्र से बारदाना एकत्र किया जाएगा, उसे संबंधित क्षेत्र की समितियों में जमा कराया जाएगा।

समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए इस बार समितियों को नए बारदाने उपलब्ध नहीं कराया गया है। राज्य सरकार ने धान खरीदी में किसी तरह की दिक्कत न हो इसे ध्यान में रखते हुए खरीदी शुरू होने के पहले से ही सरकार सरकारी राशन दुकान संचालकों और राइर मिलरों से बारदाना एकत्रित करने निर्देशित किया था। सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए खाद्य विभाग द्वारा शासकीय उचित मूल्य की दुकानों और राइस मिलरों से बारदाना इकट्ठा किया जा रहा है। दुर्ग जिले में धान खरीदी के लिए करीब एक करोड़ नग बारदाने की जरूरत है। मार्कफेड के अधिकारियों के मुताबिक करीब 60 फीसद से अधिक बारदाने की व्यवस्था हो चुकी है। बारदाना के अभाव में धान खरीदी का काम प्रभावित न हो इसे ध्यान में रखकर प्रशासन ने बारदाने की व्यवस्था को लेकर एक और दिशा निर्देश जारी किया है। जिसके मुताबिक स्कूलों और आंगनबाड़ी केंद्रों में मध्या- भोजन के लिए चावल सप्लाई किया जाता है। जिन बारदानों में चावल सप्लाई किया गया है प्रशासन ने उक्त बारदानों को भी एखत्रित कर संबंधित क्षेत्र के सहकारी समितियों में उपलब्ध करवाने कहा है। खाद्य विभाग द्वारा इस संबंध में डीईओ तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। स्कूलों का बारदाना संकुलों के माध्यम से एकत्रित किया जाएगा।

अप्रैल महीने से मंगा रहे बारदाना

मध्या- भोजन के चावल का बारदाना अप्रैल महीने से मंगाया जा रहा है। इस लिहाज से 11 महीने का बारदाना एकत्रित कर देना है।प्राप्त जानकारी के अनुसार मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम और कल्याणकारी संस्थाओं के हर महीने जितनी मात्रा में चावल आवंटित की जाती है इस लिहाज से प्रति महीने दो हजार नग बारदाना एकत्रित हो सकता है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस