सेलूद। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग द्वारा ग्राम सेलूद में सहकारिता सम्मेलन का आयोजन किया गया। इस आयोजन में बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि हम सहकारिता को खत्म नही करेंगे, और ताकतवर बनाएंगे।

कार्यक्रम में जिला सहकारी बैंक दुर्ग से सम्बंधित जिला दुर्ग, बालोद एवं बेमेतरा के 311 प्रथमिक कृषि सहकारी समितियों के अध्यक्ष, बैंक प्रतिनिधि, कार्यकारिणी के सदस्य समितियों से जुड़े किसान एवं सहकारिता से जुड़े लगभग 10 हजार से अधिक लोग शामिल हुए।

कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह 10 बजे से संस्कृतिक कार्यक्रम छत्तीसगढ़ लोककला मचं लोकछाया से हुआ। सहकारिता सम्मेलन में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि कोआपरेटिव को हम और ताकतवर बनाएंगे। उन्होंने कहा कि सहकारिता के कानून इतने क्लिष्ट होते थे कि आम जनता को समझ में नहीं आते थे। जिसकी वजह से उन्हें काफी परेशानी होती थी।

हमने सरकार में आते ही इन कानूनों को सरल करने के लिए कहा ताकि आम जनता को भी यह आसानी से समझ में आएं और उनके लिए सहकारिता से लाभ उठाना आसान हो। इसके साथ ही हमने धान खरीदी केंद्रों की संख्या को भी बढ़ाया ताकि जनता को किसी तरह की असुविधा ना हो।

पहले 2000 धान खरीदी केंद्र थे। अब इनकी संख्या 2300 हो गई है। इसके साथ ही पहले किसानों को तहसील केंद्र तक आने में काफी दूरी तय करनी पड़ती थी। हमने नए तहसील बनाए और अब 222 तहसीलों के माध्यम से किसानों को सुविधा आसान हो गई है। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर धान खरीद और सहकारिता आंदोलन की चर्चा भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि न केवल हमने किसानों के लिए कर्ज माफी की अपितु साथ ही सिंचाई कर भी माफ कियाए इसके साथ ही स्व.सहायता समूहों का कर्ज माफ किया। भूमिहीन कृषकों के लिए योजना लाई। नरवा, गरवा, घुरवा, बाड़ी के माध्यम से हम तेजी से ग्रामीण विकास को बढ़ावा देने की दिशा में कार्य कर रहे हैं।

कोआपरेटिव को कभी घाटा नहीं होने देंगे।

इस कार्यक्रम में 311 समितियों के 5000 प्रतिनिधि शामिल हुए। सहकारिता सम्मेलन में कृषि विभाग द्वारा शासकीय योजनाओं से संबंधित स्टाल भी लगाए गए थे। कार्यक्रम में देवरबीजा बैंक शाखा में 40 लाख की लागत से बने एटीएम का शुभारंभ किया गया। वहीं 15 लाख की लागत से बने तरौद खाद गोदाम का भूमिपूजन भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा किया गया।

पहांदा के शहीद परिवार के परिजनों को 20 लाख का चेक प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री ने सेलूद और पतोरा के स्व.सहायता समूह नया सवेरा और सत्य कबीर की महिलाओं को वर्मी कंपोस्ट के वितरण से प्राप्त लाभांश राशि का चेक दिया। जो कि क्रमशः 37 हजार 597 और 48 हजार 75 की राशि है। उन्होंने स्व.सहायता समूह की महिलाओं को गोधन न्याय योजना सही दिशा देने के लिए बधाई दी।

नंदौरी धान केंद्र में अपने कर्तव्य के लिए जान गवाने वाले चौकीदार स्वर्गीय हरि शंकर वर्मा की पत्नी रेखा वर्मा को आज सहकारी बैंक द्वारा एक लाख की सहायता राशि प्रदान की गई। वर्ष 2020.21 में धान उपार्जन में शून्य प्रतिशत शॉर्टेज वाली कुल 19 समितियों को उत्कृष्ट कार्य करने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेंश बघेल ने समिति के अध्यक्ष्‌ एवं प्रबंधक को प्रशस्ति पत्र का वितरण किया।

जिला दुर्ग समिति से सिरसा, कोड़िया, कोहका, सोरम, पंदर, उतई, भरर, ठेंगाभाट, देवरी, धमधा, रहटादाह, बरहापुर, कन्हारपुर, खिलौराकला, गोढ़ी, नंदौरी शामिल थे। जिला बालोद समिति से खप्परवाड़ा, गुरेदा, सिब्दी, पेण्ड्री शामिल थे। बेमेतरा शाखा भवन निर्माण के लिए 96 लाख की घोषणा की।

इससे पहले जिला सहकारी केंद्रीय बैंक के सीईओ अपेक्षा व्यास ने स्वागत उद्बोधन दिया। जिला सहकारी केंद्रीय बैंक दुर्ग के अध्यक्ष जवाहर वर्मा द्वारा किसानों के हित के लिए किए जा रहे कार्यो से अवगत कराया। उन्होंने जिला सहकारी केंद्रीय बैंक की तरफ से मांग पत्र का वाचन किया।

उनकी प्रमुख मांगों में शासन की कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन, गोधन न्याय योजना, राजीव गांधी न्याय योजना में बैंक की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसके अलावा अन्य योजनाओं की जानकारी दिया। उन्होंने मांग पत्र भी रखा।

कार्यक्रम की अध्यक्षता सहकारिता मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम ने की, अन्य अतिथि में प्रभारी मंत्री मोहम्मद अकबर, गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू, कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे, महिला बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया, पीएचई मंत्री गुरु रुद्र कुमार, छग राज्य सहकारी बैंक अध्यक्ष बैजनाथ चंद्राकर होंगे।

विशिष्ट अतिथि विधायक अरुण वोरा, विधायक देवेंद्र यादव, विधायक कुंवर सिंह निषाद, विधायक आशीष छाबड़ा, संगीता सिन्हा बालोद, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक रायपुर अध्यक्ष पंकज शर्मा, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक बिलासपुर अध्यक्ष प्रमोद नायक,जिला सहकारी केंद्रीय बैंक राजनांदगांव अध्यक्ष नवाज खान मौजूद थे। अतिथियों ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम का संचालन कांग्रेस का जिला अध्यक्ष्‌ निर्मल कोसरे ने किया।

आभार व्यक्त पुरुषोत्तम पटेल ने किया। इस अवसर पर प्रमुख रूप से ओएसडी आशीष वर्मा, मनीष बंछोर, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक अध्यक्ष्‌ जवाहर वर्मा, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष्‌ अश्वनी साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष्‌ शालिनी यादव, क्रेडा के सदस्य विजय साहू,सभपति राजेश यादव, महेंद्र वर्मा, राजेश ठाकुर, कौशल चन्द्राकर , जयश्री वर्मा, शंकर बघेल, भूपेंद्र कश्यप, देवकुमार निषाद, राजेन्द्र साहू, देवेंद्र चंद्रवंशी, जय चन्द्राकर, , कमलेश नेताम, अशोक साहू, राम बाई सिन्हा, जय प्रकाश चन्द्राकर, संजय यदु, संतोष वर्मा, रिया वर्मा, मानसी यादव, बल्लू राय, कल्लू राजपूत, नीरज सोनी, प्रशांत शुक्ला,सतीश साहू, रूपेश चन्द्राकर, प्रेम वैष्णव, उर्वशी वर्मा, पुष्पा वर्मा, सुरेन्द्र गायकवाड़, रमन टिकरिहा, दिनेश साहू, रूपेंद्र शुक्ला, पुकेश चन्द्राकर, राजू भरदीय, आभष दुबे, मोरध्वज साहू, लीलेश नायक, लीलाधर वर्मा, रूपचंद साहू, विष्णु वर्मा, लोचन यादव, श्रीकांत देवांगन, कल्लू राजपूत सहित अन्य मौजूद थे।

मुख्यमंत्री के भाषण के प्रमुख अंश

-यहां से अनंतराम वर्मा ने सहकारिता के क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्य किया,और किसानों के जीवन मे बदलाव लाने का कार्य किया।

पाटन के साथ साथ बालोद और बेमेतरा के नेताओ ने भी खूब कार्य किया।

-किसानों की सुविधाओं को देखते हुए हमने धान खरीदी केंद्र को सोसायटी बना दिया जिलों की संख्या के साथ साथ तहसील की संख्या भी बढ़ा दी ताकि किसान को ज्यादा दूरी तय करनी न पड़े।

-छत्तीसगढ़ पहला राज्य है जहां धान खरीदी सोसायटी के माध्यम से होता है।लेकिन केंद्र की सरकार अब सहकारिता को भी कंट्रोल करना चाहती है तभी तो तीन काला कानून तो लाये ही मगर अब मोदी जी ये भी नियम लाने वाले हैं कि जो किसान नही है वो भी सदस्य बन सकते हैं।

-मुख्यमंत्री ने कहा कि गोबर से बिजली उत्पादन की दिशा में बढ़ रहा है छत्तीसगढ़ प्रदेश

जहां ज्यादा गोबर होता है वहा भी बिजली उत्पादन प्लांट बनाएंगे।

-गोठानो को रूलर इंडस्ट्री पार्क की तरत डेवेलप करेंगे जहां से समूहों के द्वारा विभिन्ना प्रकार के प्रोडक्ट बनाये जाएंगे।

पतोरा स्कूल को स्व.बृजलाल के नाम करने की मांग

कार्यक्रम के दौरान दुर्ग जिला कृषि उपज मंडी अध्यक्ष अश्वनी साहू ने शासकीय हाई स्कूल पतोरा को स्व.बृजलाल देवांगन के नाम करने की मांग रखी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुर्ग क्लेक्टर डा सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे को जल्द ही राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local