गरियाबंद। कोरोना के बढ़ते संक्रमण और संकट के बीच गरियाबंद जिला के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। गरियाबंद जिले में तीन सौ बिस्तर के कोविड-19 अस्पताल की स्वीकृति मिली है। इसके लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ढाई करोड़ स्वीकृत किए हैं।

यह रायपुर और दुर्ग जिला के बाद मिलने वाली सबसे बड़ी राशि है। साथ ही आक्सीजन प्लांट के लिए एक करोड़ की अतिरिक्त स्वीकृति मिली है। इनके अलावा तीन नए एंबुलेस की सौगात जिले वासियों को मिली है।

राजिम विधायक अमितेश शुक्ल के निर्देश पर सोमवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष भावसिंग साहू ने कलेक्टर नीलेश कुमार क्षीरसागर मुलाकात की। साहू ने बताया कि जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू व विधायक अमितेश शुक्ल के प्रयास से जिला स्तर पर 300 बेड का कोविड-19 अस्पताल की मंजूरी मिली है। यह जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में होगा ताकि गरियाबंद जिला के लोगों को इलाज कराने के लिए अब इधर-उधर भटकना ना पड़े।

उन्होंने बताया कि 3 नए एंबुलेंस की भी स्वीकृति मिली है। इसके लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने गरियाबंद जिला को ढाई करोड़ रुपये की स्वीकृति दी है। वहीं नेशनल हेल्थ मिशन द्वारा एक करोड़ रुपये जिले के कोविड मरीजों के लिए आक्सीजन प्लांट की व्यवस्था के लिए मंजूरी मिली है। साहू ने कहा कि जनप्रतिनिधियों की सजगता व शासन प्रशासन की चुस्त-दुरुस्त व्यवस्था के चलते जिला में कोरोना मरीज की संख्या में कमी आई है।

उन्होंने कहा कि विधायक अमितेश शुक्ला लगातार जिले की समस्या को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तथा प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू के पास रख रहे हैं। यहां स्वास्थ्य सुविधाओं के सुधार और किसानो की पीड़ा को दूर करने का प्रयास कर रहे हैं।

नए कोविड अस्पताल की स्वीकृति, आक्सीजन प्लांट और तीन एंबुलेश की स्वीकृति मिलने पर उन्होंने जिले के आम जनता की ओर से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, जिला प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू और विधायक अमितेश शुक्ल प्रति आभार व्यक्त किया है। इसके अलावा जिलाध्यक्ष साहू ने कलेक्टर से जिले के अन्य प्रमुख समस्याओं को लेकर भी चर्चा की है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में लाकडाउन के चलते कृषि दवाई दुकान बंद है जिसके चलते किसानों को कीटनाशक दवाई से सहित अन्य कृषि संबधी जरूरतों के लिए भटकना पड़ रहा है इसे लेकर कलेक्टर से शीघ्र हल निकालने कहा है। इसके अलावा जिला स्तर पर निस्तारी पानी के लिए भी चर्चा की गई जिस पर कलेक्टर द्वारा तत्काल जल संसाधन विभाग के मुख्य कार्यपालन अभियंता को निर्देशित किया गया।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags