मैनपुर। तहसील मुख्यालय मैनपुर से आठ किमी दूर ठेमली पथर्री जंगल में तीन शावक सहित लगभग 25 हाथियों का दल फसलों को रौंदकर फुलझर बांध के जंगल क्षेत्र पहुंचा। वहां से होता हुआ तौरेंगा वन परिक्षेत्र के जंगलों में नारीपानी कवंरआमा में विचरण कर रहा है।

ठेमली पथर्री के जंगल से गुरुवार सुबह निकला हाथियों का दल बरदूला के दो किसानों के फसलों को रौंदा। ग्रामीणों के अनुसार टोरी बीनने गए एक ग्रामीण को जंगली हाथी ने दौड़ाया भी। पिछले तीन दिनों से मुख्यालय के नजदीक हाथियो का दल घुम रहा है। तीन शावक के साथ व एक व्यस्क हाथी जो दल का मुखिया है लगातार विचरण कर रहे हैं। हाथियों के चिंघाड़ से जंगल सहित गांव दहल रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि ग्रामीण अकेले जंगल व लकड़ी लाने ले जाने को डर रहे हैं। वन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार की सुबह लगभग चार बजे के आसपास हाथियों का झुंड फुलझर घाटी मुख्य मार्ग को पार कर फुलझर बांध जंगल की तरफ आगे बढ़ा है जिनका गुरुवार को फुलझर बांध के ऊपर पहाड़ी पर ही विश्राम करने की संभावना जताई जा रही थी लेकिन तौरेंगा परिक्षेत्र के कक्ष क्रमांक 1083 कवंरआमा, नारीपानी बीट जंगल में डेरा जमाए हुए हैं। वन परिक्षेत्र अधिकारी बीएल सोरी व वन अमला लगातार हाथियों वाले जंगल क्षेत्र में डटे रहे।

------

हाथियों का दल फुलझर घाटी मुख्य मार्ग को पार कर कवरआमा कक्ष क्रमांक 1083 बीट में ठहरा हुआ है। हाथियों के दल में तीन शावक भी हैं जिनकी सुरक्षा करते हुए हाथियों का दल जंगल क्षेत्र में ही विचरण कर रहा है।

- बीएल सोरी, वन परिक्षेत्र अधिकारी

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close