गरियाबंद। रविवार को ग्राम मालगांव के सैकड़ों ग्रामीणों ने अनुविभागीय कार्यालय गरियाबंद पहुंचकर ग्राम मालगांव में नेशनल हाईवे सड़क किनारे व प्राइमरी स्कूल के 30 फीट सामने अवैध अतिक्रमण कर संचालित हो रहे दुकान को हटाने 186 ग्रामीणों के हस्ताक्षरयुक्त ज्ञापन एसडीएम विश्वदीप यादव को सौंपा। दिए ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा है कि ग्राम पंचायत मालगांव में प्राइमरी स्कूल के सामने नेशनल हाईवे सड़क से किनारे अवैध अतिक्रमण कर स्थायी दुकान बनाकर हाटल संचालित किया जा रहा है। दुकान के बाहर खड़े वाहनों के चलते आए दिन नेशनल हाईवे तथा मालगांव-छुरा मार्ग में यातायात प्रभावित होता है, लगातार दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। यह दुकान मालगांव प्राइमरी स्कूल के ठीक सामने तथा 100 मीटर के दायरे में भी है। यहां रोजाना बाहरी लोगो का आना जाना लगा रहता है इसके बाद भी राजनीतिक संरक्षण के चलते इसके विरूद्ध किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है। उक्त दुकान संचालक द्वारा ग्राम पंचायत के गोठान की जमीन पर भी अवैध अतिक्रमण कर प-ा मकान व दुकान बनाया जा रहा है जिसके विरूद्ध भी मामला तहसील कार्यालय में लंबित है।

ग्रामीणों ने कहा कि कुछ दिन पूर्व ग्राम पंचायत के कहने पर राजस्व प्रशासन द्वारा वर्षो से सड़क किनारे झोपड़ीनुमा दुकान लगाकर जीवनयापन कर रहे चाय, सब्जी, नास्ता बेचने वाले फुटकर व्यवसायी को काम्पलेक्स बनाने के नाम से और स्कूल के सामने होने के कारण अवैध अतिक्रमण बताकर हटाया गया है परंतु नेशनल हाईवे तथा मालगांव छुरा मार्ग से लगे एक हाटल संचालक को ग्राम पंचायत ने नोटिस तक नहीं दिया ना ही उसके विरूद्ध अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई है। ग्राम पंचायत एवं राजस्व प्रशासन द्वारा ग्रामीणों के साथ की गई भेदभावपूर्ण कार्रवाई से ग्रामीणों में आक्रोश है। हम सब निवदेन करते हैं कि राजस्व प्रशासन द्वारा न्यायपूर्ण कार्रवाई करते हुए ग्राम मालगांव में स्कूल के सामने नेशनल हाईवे सड़क किनारे अवैध अतिक्रमण कर संचालित दुकान को यथाशीघ्र हटाया जाए। अन्यथा ग्रामीणों द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा।

ज्ञापन सौंपने वालों में प्रमुख रूप से सालिकराम निषाद, पद्मा बाई, पिंकी निषाद, फुलवासन, सलीम खान, टीकम मरई, मनोज निषाद, संतोष निषाद, पूरण यादव, मगन निषाद, छगन निषाद, पिंकी निषाद, परमेश्वर निषाद, शत्रुघन साहू, खिलावन ध्रुव, यशवंत ध्रुव, उधव ध्रुव, देवकुमार मरई, हेमसिंह सिन्हा, रामभगत निषाद, जितेन्द्र राजपुत, खिलेश निषाद, टंकेश्वर निषाद, भीम निषाद, रहीम खान, अमर लाल निषाद, शांति बाई निषाद, लखन निषाद, छितेश निषाद सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local