गरियाबंद (नईदुनिया न्यूज)। सोमवार को असत्य पर सत्य की जीत का पर्व विजयादशमी जिला मुख्यालय में धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर रावण पुतला दहन कर लोगों ने मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम को याद किया।

जिला मुख्यालय में इस वर्ष केवल परंपरागत स्थल रावणभाठा में ही दशहरा उत्सव का आयोजन किया गया था। नगर पालिका प्रशासन द्वारा आयोजित इस दशहरा उत्सव कार्यक्रम में बड़ी संख्या में नगरवासी उत्साह के साथ शामिल हुए। शाम करीब 7 बजे नगर पालिका उपाध्यक्ष सुरेंद्र सोनटेके ने नगर अध्यक्ष गफ्फू मेमन सहित सभी जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति में रावण का दहन किया।

इसके पूर्व काफी देर तक प्राचीन संस्कृति के अनुरूप यहां पूजा पाठ का सिलसिला चलता रहा। पारंपरिक ढंग से अंचल की सभी आराध्य देवी देवताओं की पूजा अर्चना की गई, सप्त देवी के नाम से प्रसिद्घ गरियाबंद में दशहरा के अवसर पर रावण भाठा में सभी देवियों का प्राचीन परंपरा के अनुरूप मिलन भी हुआ। इस बीच कुछ देर तक राम-रावण युद्ध का नाटकीय प्रदर्शन मंच से किया गया। तत्पश्चात रावण का दहन हुआ। उल्लेखनीय है कि स्थानीय रावण भाठा में दशहरा पर्व के आयोजन का यह 51वां वर्ष था। विगत 50 वर्षों से रावण का पुतला दहन किया जा रहा है। 51वां वर्ष को लेकर नगर पालिका ने इसे ऐतिहासिक बनाने विशेष ध्यान दिया। एक दिन पहले ही कार्यक्रम स्थल को रंगरोगन कर सजाया गया था। इस अवसर पर नगर पालिका अध्यक्ष गफ्फू मेमन सहित सभी जनप्रतिनिधियों ने मौके पर आम नागरिकों को निश्शुल्क मास्क भी बांटे। इधर सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर शाम होते ही पुलिस व स्थानीय प्रशासन की टीम भी मैदान में तैनात रही। एसडीओपी संजय ध्रुव, थाना प्रभारी विकास बघेल, एसआइ मोहन ठाकुर, सिदार सहित बड़ी संख्या में पुलिस के जवान शांति व्यवस्था के लिए मौजूद रहे। इस अवसर पर नगर पालिका सभापति आसिफ मेमन, वंश गोपाल सिन्हा, पार्षद रितिक सिन्हा, संदीप सरकार, विष्णु मरकाम, नीतू देवदास, नगर पालिका सीएमओ संध्या वर्मा सहित सभी पार्षदगण इंजीनियर अश्विनी वर्मा, हरीश मांझी, छगन यादव, भुपेन्द्र कश्यप सहित नगर के गणमान्य नागरिक, प्रबुद्घ जन एवं बड़ी संख्या में नगरवासी मौजूद रहे।

---------

सुहेला में हर्षोल्लास से मनाया गया विजयादशमी पर्व

सुहेला (नईदुनिया न्यूज)। नगर सहित क्षेत्र के गांव में सोमवार को विजयादशमी का पर्व आतिशबाजी कर धूमधाम से मनाया गया। आज ही के दिन बुराई व अहंकार के प्रतीक रावण का प्रभु श्रीराम ने वध किया था। इस वर्ष भी कोरोना काल के चलते ग्रामीण अंचलों में 5 से 10 फीट के रावण पुतले का दहन किया गया। रावण दहन पश्चात उपस्थित दर्शकों ने सोनपत्ती डालकर एक दूसरे को विजयदशमी पर्व की बधाई दी व गले मिले। एक घंटे तक चले रामलीला के इस मंच में कुंभकर्ण, मेघनाथ व फिर अंतिम क्षणों में राम और रावण का संवाद और राम-रावण का जमकर युद्घ हुआ जिसमें अहंकारी रावण का वध किया गया। मंच पर किसी प्रकार की घटना न हो इसके लिए पुलिसबल उपस्थित थे। पुरानी बस्ती, रामनगर, लक्ष्मी नगर, तिगड्डा चौक सहित पूरे नगर में भगवान की पालकी को भ्रमण कराया गया। सभी जगह पर पूजा अर्चना कर आशीर्वाद प्राप्त किया। कोरोना महामारी के कारण अधिकांश लोगों में मास्क पहना था सामाजिक दूरी का पालन भी हुआ। इस मौके पर रामलीला मंडली के अध्यक्ष लक्ष्मण वर्मा, तिलक वर्मा, माखन यदु, किशन वर्मा, लेखराम वर्मा, दीपक वर्मा, ऋषिराज वर्मा, राजेन्द्र वर्मा ने मंच में सहभागिता निभाई व सैकड़ों की संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस