गोहरापदर। नईदुनिया न्यूज

फर्जी र्शिक्षाकर्मी नियुक्ति पर अब तक कार्रवाई नहीं हो पाई जबकि सरकार द्वारा सख्त रवैया दिखाने के बाद शिक्षाकर्मियों के बीच बैठकों का दौर शुरू हो गया है। जनपद पंचायत मैनपुर द्वारा 2005 से 2007 के बीच ब्लॉक में शिक्षाकर्मी भर्ती की गई। जिसमें फर्जीवाड़ा सामने आया। विकलांग सर्टिफिकेट से लेकर एनसीसी स्काउट गाइड प्रमाण पत्र के सहारे तक कई लोग शिक्षाकर्मी बन तो गए मगर जब शिकवा-शिकायत का दौर काफी तेजी से चला तो तत्कालीन सीईओ रायपुर अमित कटारिया ने 103 फर्जी शिक्षाकर्मी को तत्काल बर्खास्त करने के आदेश जारी कर दिया। उसके बाद से बचे फर्जी शिक्षाकर्मी के विरुद्घ कार्रवाई को लेकर कई बार शिकायत हुई लेकिन जांच व कार्रवाई जिला पंचायत तक सिमट कर रह गई। अब कुछ दिनों से कार्रवाई की आंधी फिर चल रही है लेकिन यह भी बुझती नजर आ रही है क्योंकि अभी भी कागजी कार्रवाई कछुए की चाल पर रहा है जिससे विपक्षी सहित निकाले गए फर्जी शिक्षाकर्मी नाराज होकर कार्यालय घेराव का मन बना रहे हैं।

फर्जी शिक्षाकर्मियों को निकाले जाने के बाद उनके द्वारा जांच और कार्रवाई की मांग की साथ ही जानकारी भी ली जिससे अनुभव एनसीसी सहित अन्य प्रणाम पत्र के जरिए अंक प्राप्त कर शिक्षाकर्मी बन गए। जिसमें अरविंद चक्रधारी द्वारा फर्जी अनुभव प्रमाण पत्र के जरिए 12 अंक व स्काउट गाइड और एनसीसी व खेलकूद के तहत 5 अंक लिया। इसी तरह सूर्यकांत शर्मा द्वारा भी अनुभव स्काउट खेलकूद एनसीसी 15 अंक फर्जी तरीके से लिया जबकि अभ्यर्थी द्वारा यह सब प्रमाण पत्र जमा नहीं करने की जानकारी दी है। इसके अलावा ऐसा फर्जी प्रमाण पत्र के सहारे हेमलाल नागेश ने 15 अंक लिया। इसी तरह भूमिका साहू ने भी अनुभव और स्काउट एनसीसी का फर्जी प्रमाण पत्र से साढ़े 14 अंक के साथ शिक्षा कर्मी नियुक्ति हुई। ऐसे अन्य फर्जी प्रमाण पत्र के साथ अभी भी पदस्थ हैं जिनकी पुष्टि हो गई है।

-------

वर्जन

हमने कार्रवाई के लिए जनपद पंचायत को निर्देशित कर दिया है।

-आरके खूंटे, जिला पंचायत सीईओ

---

फर्जी शिक्षाकर्मी मामले की कार्रवाई में जिस तरह लेटलतीफी की जा रही है उस पर सवाल खड़ा करता है। इसके लिए बिल्कुल ही आंदोलन भी किया जाएगा ताकि योग्य व्यक्ति को ही लाभ मिले।

-डमरूधर पुजारी, विधायक बिंद्रानवागढ़

------

फर्जीवाड़ा हमारी सरकार द्वारा कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। फर्जी शिक्षाकर्मियों के खिलाफ जरूर कार्रवाई होगी।

बाबूलाल साहू, कांग्रेसी नेता

---------

हमने पूरे कागजी दस्तावेज जिला पंचायत में जमा कर दिया है और कार्रवाई होना है।

-रविराज ठाकुर, सीईओ मैनपुर