गरियाबंद। राजधानी रायपुर में लॉकडाउन लगाए जाने की घोषणा के बाद गरियाबंद जिले में भी लॉकडाउन को लेकर सुगबुगाहट शुरू हो गई है। कैबिनेट की बैठक के बाद ऐसा अंदेशा लगाया जा रहा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए जिले के कलेक्टरों से लाकडाउन सहित अन्य व्यवस्थाओं को लेकर जरूरी दिशा निर्देश जारी किए हैं। जिसके बाद जिला प्रशासन ने भी जिले की वस्तुस्थिति की जानकारी राज्य शासन व जिले के प्रभारी मंत्री को भेजी है और जिले में भी लॉकडाउन की संभावनाओं को लेकर प्रस्ताव रखा है। संभवत एक-दो दिन में निर्णय हो सकता है। प्रशासन ने कहा है कि बढ़ते संक्रमण और लोगों द्वारा कोरोना गाइडलाइंस का पालन नहीं करने के चलते कोरोना के रोकथाम के लिए लाकडाउन की आवश्यकता महसूस की जा रही है। हालांकि प्रशासनिक सूत्रों ने यह भी संकेत दिए हैं कि अभी लाकडाउन लेकर ठोस निर्णय नहीं हुआ है। लेकिन एक दो दिन में फैसला हो सकता है।

इधर गरियाबंद में नाइट कर्फ्यू और दुकान खोलने के समय सीमा में परिवर्तन के बाद भी प्रशासन संक्रमण को रोकने के लिए और कड़े कदम उठाने की तैयारी में है। अनुविभागीय अधिकारी भूपेंद्र साहू ने इसके संकेत देते हुए कहा कि कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर प्रशासन ने कड़े कदम उठाए है, आगे भी स्थिति को देखते हुए निश्चित सक्त कदम उठाए जाएंगे।

जिले में पर्याप्त ऑक्सीजन बेड और वेंटिलेटर

जिला स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर ने से चर्चा करने पर उन्होंने कहा कि लगातार बढ़ते मरीजों की संख्या चिंता का विषय है। लोग कोविड 19 के गाइडलाइन का सही तरीके से पालन नहीं कर रहे हैं, जिसके कारण संख्या बढ़ते जा रही है। उन्होंने बताया कि जिले स्वास्थ्य व्यवस्था पर्याप्त है। कोविड अस्पताल में आक्सीजन बेड बढ़ाए जा रहे हैं। फिलहाल कोविड 19 अस्पताल और कोविड केयर में 22 ऑक्सीजन बेड हैं जिसमें 16 भरे हैं। इसके अलावा जिले के सभी उप स्वास्थ्य केंद्रों में भी 10-10 बेड की व्यवस्था है। जिले में कुल 8 वेंटिलेटर हैं जिसमें सिर्फ दो ही भरे हैं।

ममता के निधन पर मुख्यमंत्री ने जताया दुख

कोरोना से महिला कांग्रेस के जिला अध्यक्ष ममता राठौर के निधन पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने दुःख व्यक्त किया है। मंगलवार देर रात मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राठौर के स्वजनों से दूरभाष पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि राठौर का निधन कांग्रेस परिवार के लिए अपूरणीय क्षति है। वह एक सधाी कांग्रेस योद्घा थीं जो हमेशा कांग्रेस पार्टी के लिए समर्पित रही। कांग्रेस को मजबूत करने में पूरी कर्मठता के साथ अपनी सेवाएं दीं। उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राठौर के निधन से वे काफी दुखी है, परंतु विधि के विधान के आगे सब नतमस्तक हैं। मेरी संवेदना पूरे परिवार के साथ है।

वहीं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने एक विज्ञप्ति जारी कर कांग्रेस की ओर से दुख व्यक्त किया था, जिसके बाद देर रात प्रदेश महामंत्री गिरीश देवांगन और जिला कांग्रेस अध्यक्ष भावसिंह साहू ने मुख्यमंत्री बघेल की चर्चा राठौर के पति एवं कांग्रेस के जिला कोषाध्यक्ष ओम राठौर से कराई। जिले के प्रभारी मंत्री ताम्रध्वज साहू, शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, सांसद फूलो देवी नेताम सहित कांग्रेस के अन्य मंत्री विधायक और जनप्रतिनिधियों ने भी स्वजनों से चर्चा कर दुःख व्यक्त किया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags