गरियाबंद (नईदुनिया न्यूज)। मंगलवार की रात मालगांव में कांग्रेस नेत्री के बेटे द्वारा कार से कुचलकर चार वर्षीय बालक की हत्या और 11 लोगों को घायल करने की घटना से ग्रामीणों में बुधवार को भी आक्रोश रहा। हालांकि मंगलवार को च-ाजाम के दौरान अधिकारियों के समझाने के बाद वे घर लौट गए थे। माहौल भांपते हुए बुधवार को कलेक्टर ने ग्रामीणों को बुलाकर बैठक ली और वारदात में शामिल दो अन्य फरार आरोपितों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने का भरोसा दिलाया। इस दौरान ग्रामीणों ने मृतक के स्वजनों को 25 लाख रुपये मुआवजे और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग की। इसके अलावा घायलों को दो-दो लाख रुपये देने की भी मांग रखी।

बैठक में कलेक्टर ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि इस घटना को विशेष प्रकरण मानते हुए शासन से मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग करेंगे। इसके अलावा मृत बधो के परिवार को रोजगार दिलाने की अनुशंसा करेंगे। कलेक्टर ने घायलों का निश्शुल्क इलाज कराने की भी बात कही। ग्रामीण इस मामले में जिले के प्रभारी मंत्री से बात करना चाहते थे, लेकिन विधानसभा सत्र चलने के कारण ऐसा नहीं हो सका।

बैठक में कलेक्टर डेहरे ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए ग्रामीणों को उचित कार्यवाही का भरोसा दिलाया। एएसपी बीआर पटेल ने कहा कि अन्य आरोपितों की भी शीघ्र गिरफ्तारी होगी। दोनों की पहचान कर ली गई है। थाना प्रभारी विकास बघेल ने बताया कि ग्रामीणों की मांग पर मालगांव में तीन चि-ति स्थानों पर गति अवरोध बनाए जाएंगे। अभी स्टापर लगा दिया गया है। बैठक में बैठक में कलेक्टर छत्तरसिंह डेहरे के अलावा एसपी भोजराम पटेल, एडीएम जेआर चैरसिया, एएसपी सुखनंदन राठौर, तहसीलदार राकेश साहू, मालगांव के जनपद सदस्य मो. शफीक खान, सरपंच पार्वती ध्रुव, उपसरपंच मो. हफीज खान, ग्राम अध्यक्ष सालिक राम निषाद वरिष्ठ ग्रामीण विजय टांक, जगमोहन नेताम, कालूराम निषाद, देवकुंवर, रेखूराम निषाद, जनकराम सिन्हा एवं पीड़ित परिवार के सदस्य मौजूद थे।

ग्रामीणों की मांग

मृतक के परिवार को 25 लाख मुआवजा व रोजगार दें। घायलों को दो-दो लाख मुआवजा, पुराना नाका से लेकर ढाबा तक ब्रेकर निर्माण और फरार दो अन्य आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की है।

विवाद के बाद वापस लौटा और कार से कुचल दिया

बता दें कि सोमवार की रात महिला कांग्रेस जिला अध्यक्ष व पूर्व पालिका अध्यक्ष ममता राठौर का बेटा रोमित राठौर मालगांव से दशहरा उत्सव देखकर लौट रहे ग्रामीणों से उलझ गया था। लकड़ी की तलवार कार से टकराने के कारण विवाद हुआ। पहले आरोपित मौके से चला गया लेकिन कुछ देर बाद वापस लौटा और कार से ग्रामीणों को कुचल दिया। इससे सोहन सिन्हा के चार वर्षीय बेटे मोसिन सिन्हा की मौत हो गई थी और 11 ग्रामीण घायल हो गए थे। इनमें से छह को ज्यादा चोटें आईं हैं। आक्रोशित ग्रामीणों ने मंगलवार सुबह नेशनल हाइवे पर च-ाजाम कर प्रदर्शन किया था। वारदात के दौरान रोमित के साथ उसके तीन मित्र भी थे। पुलिस ने रोमित और उसके एक दोस्त सौरभ कुटारे को मंगलवार सुबह ही ग्राम नागाबुढ़ा के जंगल से गिरफ्तार कर लिया था। वहीं उसके दो दोस्त फरार हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस