देवभोग। गरियाबंद जिले के छुरा ब्लाक के कुरूस पाली के रहने वाले सुंदर सिंह के बेटे दीपक ठाकुर ने पहले ही प्रयास में सीजीपीएससी 2019 के एग्जाम को क्रैक कर लिया है। 367 रैंक में कैटेगिरी के आधार पर वे 17वें स्थान पर है, जिसकी बदौलत दीपक को डीएसपी की पोस्ट मिलना तय है, जल्द ही पोस्ट अलाट होगी। अपनी इस कामयाबी की खबर शुक्रवार रात को रिजल्ट आने के बाद दीपक ने पिता को सुनाई। आधी जिंदगी पुलिस विभाग में बिता चुके पिता को बेटे की इस कामयाबी पर बेहद खुशी है। दीपक ने कहा कि मैंने रिजल्ट आने के बाद पिता को फोन किया था, वो मुझ से बोले- मुझे पता था तुम कर दिखाओगे।

डीजीपी के हाथों पुरस्कृत होने के बाद ठान लिया था अफसर बनना है। दीपक ने बताया कि बचपन से ही पिता को वर्दी में देखा है। पुलिस अधिकारियों को देखकर दीपक ने भी कैरियर में अफसर बनने की सोच रखी थी। 2 साल पहले डीजीपी डीएम अवस्थी ने पुलिस परिवार के ऐसे बच्चों से मुलाकात की थी जो पढ़ाई में अच्छे हैं। इन बच्चों में दीपक भी शामिल थे। उनके हाथों तब पुरस्कर भी मिला था। तब दीपक से डीजीपी अवस्थी ने कहा था कि पढ़ाई में अच्छे हो तो सिविल सर्विसेज की तैयारी जरूर करो। इसका दीपक पर गहरा असर पड़ा और तभी से वह तैयारी में जुट गए। दीपक ने बताया कि इंटरव्यू में जाने से पहले उन्हें जीके एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर ने भी अपने अनुभव साझा कर हौसला अफजाई की थी।

अपनी पढ़ाई के शेड्यूल को हफ्तों में बांट रखा था

दीपक ने बताया, हर हफ्ते मैं किसी टापिक या सबजेक्ट की तैयारी पूरी करता रहता था। दिमाग में इस बात का बोझ नहीं था कि 6 या 7 घंटे पढ़ाई करनी है, मैं बस ये ध्यान में रखता था कि इस सप्ताह तैयारी पूरी कर लूं। ऐसे में दो घंटे की पढ़ाई भी फोकस्ड तरीके से हो पाती थी। हर सब्जेक्ट को पूरा करने के बाद उसे रिवाइज करने और लगातार प्रेक्टिस करने पर जोर देते रहे, जिसकी वजह से सीजीपीएससी की तैयारी काफी मजबूत हुई। कांसेप्ट को समझते हुए मेंस को ध्यान में रखकर तैयारी की और पहले प्रयास में ही कामयाबी मिली।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local