गरियाबंद। सोमवार को कलेक्टर नीलेश कुमार क्षीरसागर ने जिले के सभी अनुविभागीय अधिकारी, जिला स्वास्थ्य अधिकारी, जिला नोडल अधिकारी और सभी ब्लाक मेडिकल अधिकारियो की वर्चुअल बैठक लेकर जिले में कोविड 19 के वस्तुस्थिति की समीक्षा की। इसके साथ ही उन्होंने आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। कलेक्टर ने जिले में अधिकारियों द्वारा कोरोना नियंत्रण हेतु किये गए कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि स्थिति को पूरी तरह नियंत्रित करने अभी हमें और मेहनत की आवश्यकता है। सभी एसडीएम कांटेक्ट ट्रेसिंग पर फोकस करें और अधिक से अधिक लोगों की कोरोना जांच कराए। जिले में प्रतिदिन दो से ढाई हजार कोरोना जांच होना चाहिए। धनात्मक मरीज के प्रायमरी कांटेक्ट वालों का टेस्ट के साथ ही क्षेत्र के अन्य लोगों का भी कोरोना टेस्ट कराई जाए।

कलेक्टर ने अवगत कराया कि कोरोना के दोरान नई-नई बातें सामने आ रही है। स्वस्थ होने पर रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होने से माइक्रोफंगश की शिकायतों पर भी विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कहा कि सभी एसडीएम कोरोना के संबंध में आवश्यक सूचना कलेक्टर, एडीएम व जिला नोडल अधिकारी को वाट्सएप्प अथवा मोबाईल के माध्यम से दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिले में 45 प्लस आयु के साथ ही 18 से 44 वर्ष आयु के लोगों का वैक्सीनेशन प्रारंभ है। साथ ही शासन द्वारा अंत्योदय, बीपीएल व एपीएल हितग्राहियों के लिए वैक्सीनेशन हेतु नियमित प्रतिशत निर्धारित किया गया है। इसके अलावा शासन द्वारा फ्रंटलाइन वर्कर्स भी तय किये गये हैं, इनका भी वैक्सीनेशन होना है। इस अवसर पर एडीएम जे आर चौरसिया, डिप्टी कलेक्टर ऋषा ठाकुर, डीपीएम डॉ. रीना लक्ष्मी उपस्थित थीं।

आक्सीजन की कमी नहीं

सीएमएचओ ने जानकारी दी कि जिले में ऑक्सीजन की कमी नहीं है। वर्तमान में 264 जम्बो सिलिंडर उपलब्ध है। जिले के डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल में ऑक्सीजन युक्त 50 बेड, पॉलिटेक्निक कोविड सेंटर में 30 और जिला अस्पताल में 10 बेड उपलब्ध हैं। उन्होंने बी.एम.ओ को गंभीर कोरोना मरीज को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल भेजने और लोगों में लक्षण दिखने पर पॉजिटिव रिजल्ट की प्रतिक्षा किये बगैर कोविड सेंटर में भर्ती कराने निर्देशित किया।

बाहर से आने वालें पर रखें कड़ी नजर

कलेक्टर ने सभी एसडीएम को गांवों में आयोजित सामाजिक, धार्मिक, सांस्कृतिक कार्यक्रमों व गांवों में अन्य राज्य से आने वाले लोगो पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिले में कुछ छुट के साथ लॉकडाउन में ढील दी गई है। इस दौरान व्यवसायियों, दुकानदारों का भी कोरोना जांच और कोविड-19 के निर्देशों का कड़ाई से पालन कराई जाये। गांवों में मितानिनों और ग्राम पंचायतों को और अधिक एक्टिव किया जाये। इनके पास कोरोना की दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो, ताकि आवश्यकता पड़ने पर समय पर लोगों को दवाईयां उपलब्ध कराई जा सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags