मैनपुर। ग्राम सिंहार में पड़ने वाली नदी पर आज तक पुलिया नहीं बनाई गई। इससे ग्रामीणों को मूलभूत सुविधाओं से वंचित होना पड़ा रहा है। सोमवार को एक गर्भवती महिला को खाट के सहारे नदी पार कराया गया।

मैनपुर से महज 10 किमी दूर ग्राम पंचायत जिड़ार के आश्रित ग्राम सिंहार में सोमवार को सुबह 11 बजे के आसपास गर्मवती कुमारी बाई पति दुलेश्वर कमार (22 वर्ष) को प्रसव पीड़ा शुरू हुई तो परिजनों ने 102 महतारी एक्सप्रेस को बुलाया। सिंहार तक पहुंचने के लिए उबड़-खाबड़ रास्ते व बीच में पड़ने वाले सिंहार नदी को महतारी एक्सप्रेस पार नहीं कर पाई जिसके बाद ग्रामीणों ने खाट के सहारे सिंहार से दो किमी दूर उबड़ खाबड़ रास्ते पर पैदल चलकर व सिंहार नदी पार कर महतारी एक्सप्रेस तक पहुंचाया। इसके बाद गर्भवती महिला को उप स्वास्थ्य केंद्र देहारगुड़ा लाया गया। जहां मलिहा ने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया।

ज्ञात हो कि ग्राम सिंहार की जनसंख्या 360 के आसपास है और यहां लगभग 60 से 70 कमार आदिवासी परिवार निवास करते हैं। ये शासन के उन पिछड़े जनजातियों में गिने जाते हैं जिनके विकास के लिए शासन द्वारा नई नई योजना संचालित कर इन्हें विकास के मुख्य धारा से जोड़ने की कोशिश की जा रही है। लेकिन गरियाबंद जिला मुख्यालय के नजदीक होने के बावजूद भी यहां के ग्रामीणों को जो शासन की योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए अब तक नहीं मिल पाया है।

बारिश के समय कट जाता है मुख्यालय से

यहां के ग्रामीण पंच सुकलाल सोरी, रायसिंह नेताम, अमरू नेताम, अमरसिंह, यशवंत नेताम, अधंता राम, रायमोतिन बाई, परमिला सोरी ने बताया कि सिंहार नदी पर पुलिया और सड़क निर्माण की मांग हर वर्ष किया जाता है लेकिन हमारी मांग अब तक पूरी नहीं हो सकी है। बरसात के दिनों में ग्रामीण मुख्यालय से कट जाते हैं जहां स्वास्थ्य सहित मूलभूत सुविधाओं की समस्या से गुजरना पड़ता है। अगर पुलिया और पक्की सड़क बना दिया गया तो परेशान नहीं होगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस