गरियाबंद। कोरोना संक्रमण के भय और जागरूकता के अभाव में ग्रामीण क्षेत्र के लोग वैक्सीन लगवाने अस्पताल जाने को तैयार नहीं हो रहे हैं। इसके चलते स्वास्थ्य विभाग के भी पसीने भी छूट रहे हैं। वहीं तीसरे चरण के टीकाकरण में भी समूचे प्रदेश में बुरी स्थिति देखने को मिल रही है। एक मई से 18 से 45 वर्ष आयु के अंत्योदय कार्डधारी परिवार के सदस्यों को टीका लगाया जा रहा हैं परंतु कोरोना संक्रमण के भय से लोग अस्पताल जाने तैयार नहीं हो रहे हैं। जिले में भी पहले तीन दिन में लगभग 200 लोगों को ही टीका लगाया जा सका है। इस स्थिति को देखते हुए ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष हफीज खान ने जिला प्रशासन से मांग की है कि तीसरे चरण का टीकाकरण केवल जिला अस्पताल या सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में ही करने के बजाय प्रथम चरण वाले टीकाकरण सेंटरों से ही किया जाए या फिर शासन पंचायत स्तर पर टीका लगाने की व्यवस्था करे। इससे कम समय में अधिक लोगों को टीका लगाया जा सकेगा।

ब्लाक अध्यक्ष ने बताया कि ग्रामीण अंचलों में जागरूकता के अभाव में भ्रांतिया फैली है। लोगों को कोरोना संक्रमण का भय सता रहा है। जिला मुख्यालय से लगे ग्राम मालगांव, बहेराबुढ़ा सहित आधे दर्जन गांव में कार्यकर्ताओं से उन्होंने चर्चा की तो चला कि लोग जिला अस्पताल जाकर टीका लगाने से घबरा रहे हैं। जिसके चलते टीकाकरण अभियान रफ्तार नहीं पकड़ रहा है।

स्वयंसेवकों ने किया शारीरिक दूरी के लिए मार्किंग

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ नवापारा नगर के स्वयंसेवकों द्वारा सोमवार सुबह नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र , मेडिकल स्टोर्स, एटीएम और पुलिस थाना प्रांगण में शारीरिक दूरी के लिए मार्किंग का कार्य किया गया। इस कार्य में सम्मिलित सह प्रांत कार्यवाह गोपाल यादव ने बताया कि वर्तमान समय में अस्पताल, एटीएम एवं मेडिकल स्टोर्स में आम लोगों की अधिक संख्या में आना जाना हो रहा है। अतः आम जनों में दो गज दूरी व मास्क की जरूरी उपयोग के लिए मार्किंग आवश्यक था। इस कार्य से लोगों में शारीरिक दूरी के प्रति जागरूकता बढ़ेगी और जब कभी भी उनका इन स्थानों में आना जाना होगा वे इसका पालन करेंगे, जिससे कोरोना संक्रमण को काफ़ी हद तक रोकने में मदद मिल सकती है जिला कार्यवाह लोकनाथ साहू ने बताया कि शारीरिक दूरी का पालन हो सके इस के लिए दुकानों व कार्यालयों के सामने मार्किंग का कार्य नवापारा नगर के साथ-साथ रायपुर ग्रामीण जिले के विभिन्ना स्थानों पर भी वहां के स्थानीय स्वयंसेवकों के माध्यम से किया जा रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags