मैनपुर (नईदुनिया न्यूज)। जंगली मादा भालू ने गांव के एक सूने मकान में बच्चे को जन्म दिया। भालू के बच्चे को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। भीड़ को काबू करने में वन विभाग के अधिकारियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी। देर रात तक अधिकारी-कर्मचारी पहरेदारी कर रहे थे।

तहसील मुख्यालय मैनपुर से लगभग पांच किलोमीटर दूर ग्राम गिरहोला के भीतर पहाड़ी किनारे एक खाली पड़े मकान में जंगली मादा भालू ने पहुंचकर एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया है। मंगलवार दोपहर को गांव के कुछ बच्चे खेलते-खेलते सूने मकान के पास पहुंचे तो जंगली मादा भालू जंगल की तरफ भाग गई लेकिन उसने अपने नवजात शावक को सूने मकान में छा़ेड दिया। जिसकी जानकारी बच्चों ने गांव के लोगों को दी। ग्रामीणों को जैसे ही पता चला कि गांव के पहाड़ी किनारे सूने मकान में एक जंगली मादा भालू ने बच्चे को जन्म दिया है तो बच्चे को देखने के लिए ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। इसकी जानकारी मैनपुर वन परिक्षेत्र अधिकारी अनिल कुमार साहू को दी गई तो तत्काल वन परिक्षेत्र अधिकारी वन कर्मचारियों के साथ मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों के भीड़ को वहां से हटने की अपील की।

इस संबंध में वन परिक्षेत्र अधिकारी मैनपुर अनिल कुमार साहू ने बताया कि ग्रामीणों के माध्यम से जैसे ही मंगलवार दोपहर तीन बजे को एक मादा भालू के बच्चे को जन्म देने की जानकारी मिली वे स्वयं वन अमला के साथ मौके पर पहुंचकर देर रात से ग्राम गिरहोला में उपस्थित है। गांव के पहाड़ी किनारे एक इंदिरा आवास का निर्माण किया गया है, इस आवास में कोई भी निवासरत नहीं है, मकान खाली पड़ा है और पहाड़ी से लगा हुआ है, जहां बीते रात को जंगल के मादा भालू ने शावक को जन्म दिया है। शावक पूरी तरह स्वस्थ है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस