Banking Service In Jagdalpur: जगदलपुर। जिला मुख्यालय जगदलपुर से 55 किलोमीटर दूर कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान के बीच स्थित नक्सल प्रभावित ग्राम कोलेंग में छोटे स्तर ही सही बैंकिंग की सुविधा मिलने लगी है। यहां समीपवर्ती राज्य ओडिशा स्थित मोबाइल टावर से मिलने वाले नेटवर्क से स्थानीय युवा व्यवसाई संतोष वर्मा ने कियोस्क (इंटरनेट आधारित एक मशीन जिससे बैंकिंग के काम आनलाइन होते हैं) के माध्यम से इस सेवा की शुरुआत की है।

वर्मा किराना दुकान का संचालन करते हैं। जिला प्रशासन द्वारा प्रोत्साहित करने पर उन्होंने कोलेंग और आसपास के गांवों के मनरेगा श्रमिकों और महिला स्वसहायता समूहों के लेनदेन के लिए इस क्षेत्र में काम शुरू किया है। कोलेंग के साथ ही कांदानार, मुंडागढ़, काचीरास, चांदामेटा, छिंदगुर सहित आसपास रहने वाले ग्रामीण इस बैंकिंग सुविधा का लाभ ले रहे हैं। संतोष ने बातचीत के दौरान बताया कि इस क्षेत्र में सक्रिय महिला स्वसहायता समूहों को बैंकिंग लेनदेन की जरुरत पड़ती है। विकासखंड मुख्यालय दरभा यहां से लगभग 28 किलोमीटर दूर है और यह पक्की सड़क से भी नहीं जुड़ पाया था। जिससे स्वसहायता समूहों की महिलाओं को काफी परेशानी होती थी।

स्वसहायता समूह की महिलाओं को मार्गदर्शन देने वाली संस्था तथा महिला और बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने जब इस परेशानी के संबंध में बताया और कियोस्क के संचालन के लिए प्रेरित किया गया। दिसम्बर 2020 में गांव में बिजली पहुंचने के बाद उन्होंने बैंकिंग सेवा प्रदान करना प्रारंभ किया और अब क्षेत्र के लोगों को बैंकिंग लेनदेन की सुविधा प्रदान कर रहे हैं।

बड़ी संख्या में लेन - देन

संतोष ने बताया कि उनके यहां पेंशन योजना और मनरेगा के मजदूर बड़ी संख्या में लेनदेन करते हैं। पहले पेंशन हितग्राही और मनरेगा मजदूर अपने खाते की राशि निकालने के लिए आमतौर पर दरभा जाते थे। आवागमन के बहुत अधिक साधन नहीं होने के कारण क्षेत्र के ग्रामीणों को बहुत अधिक समस्या होती थी।

नेटवर्क की सुविधा बढ़ने का मिलेगा फायदा

संतोष ने बताया कि कियोस्क के संचालन के लिए वह ओडिशा से मिलने वाले मोबाइल नेटवर्क का उपयोग कर रहे हैं। क्षेत्र में सुरक्षाबल के जवानों को भी उनके कियोस्क में लेनदेन सुविधा मिल रही है। कियोस्क में पेंशन और मनरेगा जैसी योजनाओं से प्राप्त राशि के आहरण के साथ ही ग्रामीणों द्वारा बचत खातों में राशि भी जमा की जा रही है। संतोष ने बताया कि क्षेत्र में अभी नेटवर्क की अच्छी सुविधा उपलब्ध नहीं होने के कारण सिर्फ कियोस्क का संचालन कर रहे हैं। अपने क्षेत्र में ही अच्छी नेटवर्क की सुविधा मिलने के बाद वह कामन सर्विस सेंटर में मिलने वाली अन्य सुविधाएं भी प्रदान कर सकेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local