सुकमा। Bastar News : वन विभाग के द्वारा कैंपा मद से कराए जा रहे निर्माण की गुणवत्ता पर सवाल उठ रहे हैं। जंगलों को सुरक्षति रखने के लिए सड़क किनारे दीवार बनाई जा रही है जिसमें तकनीकी मापदंडों को दरकिनार कर निर्माण कराया जा रहा है। विभाग की ओर से न तो लागत बताई जा रही है और न ही किसी प्रकार की जानकारी दी जा रही है।

जिला मुख्यालय के पुराने कलेक्टोरेट के सामने से वन विभाग द्वारा दीवार का निर्माण कराया जा रहा है। पिछले कई महीनों से काम चल रहा है। जानकारी के मुताबिक काम समूह के माध्यम से कराया जा रहा है लेकिन पूरी देखरेख व लेन-देन रेंज अधिकारी कर रहे हैं। जिले के कई जगहों पर वन विभाग के द्वारा दीवार का निर्माण कराया गया है। कैंपा मद (क्षतिपूरक वनीकरण कोष प्रबंधन एवं योजना प्राधिकरण) के तहत काम हो रहे हैं। दीवार निर्माण में गुणवत्ता को ताक पर रख दिया गया है।

तकनीकी मापदंड पर सवाल

दीवार निर्माण के लिए जिन तकनीकी मापदंडों का पालन करना चाहिए उसे दरकिनार किया गया है। तकनीकी विभाग के इंजीनियर की मानें तो दीवार निर्माण के लिए पहले कालम गड्ढा होना चाहिए। उसमें जाली के साथ कालम खड़ा होना चाहिए। उसमें कांक्रीट भरने के बाद दूसरे कालम का निर्माण होना चाहिए जो पांच फीट दूर होना चाहिए।

मजबूती के लिए लोहे व कांक्रीट से जोड़ होना चाहिए। लेकिन यहां महज एक फीट में गड्ढा खोदकर कालम उठाया गया है। इस्तेमाल किए जा रहे ईंटों की गुणवत्ता भी घटिया होने की बात कही जा रही है। अब तक दीवार पर प्लास्टर नहीं किया गया है।

विभाग नहीं दे रहा जानकारी

दीवार निर्माण को लेकर वन विभाग से जानकारी मांगने पर संबधित अधिकारी एक-दूसरे के पास भेज रहे हैं। रेंज अधिकारी अशोक त्रिपाठी का कहना है कि उनके पास जानकारी नहीं है, वहीं डीएफओ का कहना है कि रेंज अधिकारी जानकारी देंगे।

Posted By: Ravindra Thengdi

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags